भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह ने अपनी ही पार्टी के सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त पर लगाए गंभीर आरोप

  • बलिया में दिशा मीटिंग में विधायक और सांसद आमने-सामने
  • जमकर हुआ विवाद, दोनों के समर्थकों ने किया खूब हंगामा
  • मीडिया के सामने भी विधाक ने सांसद पर लगाए आरोप

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

वाराणसी/बलिया. अध्यक्ष जो भी कहेगा वही हो जाएगा। अध्यक्ष जिसको चाहता है वही बैठक में बैठेगा, ये मेरे सिद्घांत और विचारों के खिलाफ है। दिशा की बैठक के लिये एक सूची होती है सूची में जो लोग चिन्हित हैं उन्हीं को बैठक में रहना चाहिये। ये अनावश्यक अपने लोगों को बैठा कर... कोई विधायक तर्क कर रहा है तो सब बोलने लगते हैं। ये कोई बात तो हुई नहीं।

 

बैठक में कैसे बढ़ा विवाद ये जानने के लिये इस खबर को जरूर पढ़ेंः भाजपा सांसद मस्त और विधायक सुरेंद्र सिंह मीटिंग में आमने सामने, एक दूसरे पर लगाए जमकर आरोप

 

दिशा की मीटिंग का बहिष्कार कर निकले बैरिया से भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह ने मीडिया के सामने सांसद के खिलाफ अपने गुस्से का इजहार इन्हीं शब्दों के साथ किया। उन्होंने आरोप लगाया कि अध्यक्ष (सांसद) मनमानी करते हैं। जिसको चाहते हैं वही बैठक में रहेगा। जबकि कायदे से बैठक में प्रतिनिधि रहना चाहिये और जो उनके लोग हैं। अनावश्यक लोग नहीं बैठने चाहिये। पर वो जिसे चाहते हैं बैठाते हैं। इस दौरान बीघा जमीन हड़पने का आरोप लगाते हुए कहा कि मैं ये मामला उठाने ही वाला था तब तक पीदे से लोग बोलने लगे।


मीटिंग से बाहर निकलकर सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने भी मीडिया के सामने इसका जवाब दिया। उन्होंने कहा कि मेरी जानकारी के लिये जितने लोग मेरे साथ होने चाहियें होंगे। उनके आरोप हमारे उपर आरोपित नहीं होते। क्या हुआ था, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि हमने कहा कि पहले विभाग के लोग अपनी समीक्षा प्रस्तुत कर लें फिर विधायक अपनी बात कहें। सांसद ने साथ ही यह भी जोड़ा कि अगर गलत काम करने के लिये अधिकारियों पर दबाव बनाएंगे तो मैं उस मीटिंग का चेयरमैन हूं मेरा विशेषाधिकार है मैं ऐसा नहीं होने दूंगा।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned