BJP के नये प्रदेश अध्यक्ष को इस चुनाव में दिलानी होगी पार्टी को बड़ी जीत

बीजेपी को लगा झटका तो संसदीय चुनाव में होगा नुकसानक, जानिए क्या है कहानी

By: Devesh Singh

Published: 08 Sep 2017, 05:01 PM IST

वाराणसी. बीजेपी के नये प्रदेश अध्यक्ष डा.महेन्द्रनाथ पांडेय की राह आसान नहीं है। बीजेपी का एकमात्र सबसे बड़ा लक्ष्य संसदीय चुनाव २०१९ जीतना है। बीजेपी किसी हाल में नहीं चाहेगी कि संसदीय चुनाव से पहले पार्टी के खिलाफ माहौल बने। इसके लिए जरूरी है कि बीजेपी को नगर निगम चुनाव में बड़ी जीत मिले। प्रदेश में जल्द ही नगर निगम चुनाव होने वाले हैं और उसी चुनाव में डा.महेन्द्रनाथ पांडेय की परीक्षा होगी।
यह भी पढ़े:-न बारिश न बाढ़ की बाधा, फिर भी नहीं हुआ वरुणा कॉरीडोर का काम आधा 



जनता ने जिस विश्वास के साथ यूपी में बीजेपी को सत्ता दिलायी है वह विश्वास अब दरक रहा है।  बच्चों की मौत, क्राइम ग्राफ, बिजली, पानी ऐसे मुद्दे हैं, जिन पर बीजेपी सरकार खरी नहीं उतर पा रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ खुद दबाव में है और व्यवस्था सुधार का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन सफलता नहीं मिल रही है। इन्हीं हालातों में अब बीजेपी को नगर निगम चुनाव लडऩा है। बीजेपी की स्थिति नगर निगम चुनाव में अच्छी होती है। सपा व बसपा के सरकार में भी बीजेपी का महापौर जीत जाती है अब तो पार्टी की ही सरकार है ऐसे में नगर निगम चुनाव मे सभासद व मेयर दोनों ही पदों की संख्या घटती है तो बीजेपी के लिए खतरे की घंटी बज जायेगी।
यह भी पढ़े:-PM मोदी के संसदीय क्षेत्र में हाईटेक होगी CM योगी की पुलिस 

बीजेपी को नहीं मिलेगा पीएम नरेन्द्र मोदी का साथ
बीजेपी भले ही यह बात स्वीकार नहीं करती है कि सिर्फ पीएम मोदी के चलते ही पार्टी को जीत मिलती है, लेकिन दबी जुबान से सभी इस बात को स्वीकार करते हैं कि पीएम मोदी का जादू नहीं चले तो जीतना मुश्किल है। नगर निगम चुनाव में बीजेपी को पीएम मोदी के प्रचार का साथ नहीं मिलने वाला है, जिसके चलते भी पार्टी की परेशानी बढ़ गयी है।
यह भी पढ़े:-नवरात्र में बीजेपी में होगा उलटफेर, नयी टीम संभाल सकती मोर्चा 

विरोधी दलों से मिल सकती बीजेपी को राहत
विरोधी दलों को बीजेपी से राहत मिल सकती है। सपा, बसपा, कांग्रेस सभी विरोधी दल अपने सिंबल पर नगर निगम चुनाव लडऩे वाले हैं। ऐसा होने पर बीजेपी को सबसे अधिक फायदा होगा। पार्टी जानती है कि यदि नगर निगम चुनाव में हार मिलती है तो विरोधी दलों को बड़ा मुद्दा मिल जायेगा। संसदीय चुनाव के पहले बीजेपी विरोधी माहौल बनने लगेगा और पार्टी को नुकसान उठाना पड़ सकता है।
यह भी पढ़े:-बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डा.महेन्द्रनाथ पांडेय ने यूपी की सभी संसदीय सीटों पर लहरायेगा फगवा

BJP Congress
Show More
Devesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned