फेसबुकिया मतदाताओं से भाजपाई मांग रहे LIKE की भीख

फेसबुकिया मतदाताओं से भाजपाई मांग रहे LIKE की भीख
bjp workers appeal to like facbook page

विधायक मां, कार्यकर्ता बेटे से लेकर सबको चाहिए वाराणसी से भाजपा का टिकट, फेसबुक पर चल रही दिलचस्प जंग

वाराणसी. भाजपा को मालूम था कि विधानसभा 2017 मिशन उसके लिए सिरदर्द साबित होगा क्योंकि टिकट के लिए पार्टी कार्यालय में एक से बढ़कर एक दावेदार अपनी हुंकार भरेंगे। सोशल मीडिया की जंग के सहारे केंद्र की सत्ता हासिल की बीजेपी ने बीते दिनों साफ कर दिया था कि उत्तर प्रदेश का विधायक बनने के लिए टिकट चाहिए तो फेसबुक पर 25 हजार लाइक जरूरी है। बस, फिर क्या था जिन्होंने कभी स्मार्टफोन को छुआ तक नहीं था, जिन्हें कॉल रीसिव करने और नंबर डायल करने से अधिक कुछ नहीं आता था आज वह भाजपाई भी एंड्रायड फोन पर सक्रिय हैं। 
 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में वाराणसी पर सबकी निगाहें हैं क्योंकि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  का संसदीय क्षेत्र है और ऐसे में उनके क्षेत्र से विधायक चुना जाना गर्व की बात होगी। ऐसे में जब शीर्ष नेतृत्व ने टिकट को लेकर फेसबुक के पेज पर लाइक की संख्या को आधार बना दिया है तब से बनारस में टिकट के लिए गणेश परिक्रमा करने वाले अब दिनभर सोशल मीडिया पर जूझ रहे हैं। फेसबुक पर सर्च करने पर पता चल रहा है कि भाजपा के आम कार्यकर्ता से लेकर वर्तमान विधायक तो छोडि़ए कई पूर्व, वर्तमान सांसद तक फेसबुक पर पेज बनाकर लोगों से पेज लाइक करने की अपील कर रहे हैं। 

 प्रधानमंत्री के साथ सेल्फी के बूते मांग रहे भीख

वोटर की नजर में जब तक नेता चुनाव जीत नहीं जाते, वे वोट की भीख मांगते हैं। जमाना अब सोशल मीडिया का है तो अब नेता वहां भी पीछा नहीं छोड़ रहे। फिलहाल तो भाजपाई बदले ट्रेंड में फेसबुकिया मतदाताओं से लाइक की भीख मांग रहे हैं। वाराणसी के विभिन्न विधानसभा क्षेत्र से चुनावी जंग में कूदने की तैयारी कर रहे अधिकतर भाजपाई फेसबुक पेज पर अपनी वह प्रोफाइल फोटो अपलोड कर रहे हैं जो प्रधानमंत्री मोदी के साथ खिंचाई गई है। मोदी अपने संसदीय क्षेत्र में जब भी आते हैं, भाजपा नेताओं के साथ तस्वीर जरूर खिंचाते हैं। भाजपा नेताओं को उम्मीद है कि मोदी के साथ ली गई सेल्फी पर उन्हें अधिक लाइक मिलेंगे और उनका टिकट पक्का हो जाएगा। 

मां-बेटे से लेकर पार्षद-आम कार्यकर्ता भी कतार में
 चुनाव के अंतिम समय तक यदि भाजपा अपने इस दावे पर टिकी रही कि फेसबुक पर 25 हजार से अधिक लाइक मिलने पर ही टिकट मिलेगा तो यह देश की पहली ऐसी पार्टी होगी जहां टिकट बंटवारे को चहेतों को टिकट दिलाने की परंपरा का अंत होगा साथ ही एक नए युग की शुरूआत होगी। शायद यही वजह है कि भाजपा का आम कार्यकर्ता भी आज की तारीख में विधायकी का टिकट पाने की उम्मीद पर दिनभर फेसबुक पर जूझ रहा है। 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned