कोख में पालने वाली मां की तेरही के खर्चे को लेकर भिड़ गए बेटे, एक की मौत

कोख में पालने वाली मां की तेरही के खर्चे को लेकर भिड़ गए बेटे, एक की मौत
brothers killed fight

पत्नी ने लगाया हत्या का आरोप

वाराणसी. नौ-नौ महीने कोख में पालकर दो बेटों को उसने जन्म दिया था। परिवार में खुशियां थी कि वंश चलाने वाले आ गए। मां को उम्मीद थी कि उसके बेटे नाम कमाएंगे, मां की खुशियों का ख्याल रखेंगे। उस मां को शायद यह पता नहीं था कि उसके वहीं बेटे उसकी मौत के बाद अंतिम संस्कार से लेकर अन्य खर्चों को लेकर आपस में ही टकरा जाएंगे। टकराहट भी ऐसी कि एक बेटा भी जवानी में ही मर जाए।
ऐसा ही कुछ हुआ बनारस में। मां की तेरही पर हुए खर्च की रकम को लेकर दो भाइयों में इस कदर टकराहट हुई कि एक भाई को अपनी जान गंवानी पड़ी।
जानकारी के अनुसार रोहनिया थाना क्षेत्र की मूल निवासी फूलपत्ती देवी की कुछ दिनों पूर्व मौत हो गई थी। लंका क्षेत्र में रहने वाले फूलपत्ती देवी के बेटे अशोक व सुरेश अंतिम संस्कार के बाद रोहनिया स्थित गांव चले गए थे। तेरही का आयोजन समाप्त होने के बाद अशोक के बड़े भाई सुरेश ने खर्च को लेकर वाद-विवाद शुरू कर दिया। किसी तरह गांववालों ने मामला शांत कराया। सोमवार को दोनों भाइयों का परिवार लंका स्थित मकान में आ गया। जानकारी के अनुसार लंका थाना क्षेत्र के भगवतीपुर में सोमवार की रात बड़ा भाई सुरेश अशोक के यहां पहुंचा और खर्च को लेकर झगड़ा करने लगा। 
विवाद के बाद मंगलवार को अशोक का शव घर के समीप कुएं में मिला। अशोक की पत्नी सितारा देवी का आरोप है कि जेठ व उसके बेटों ने अशोक के साथ मारपीट की और बाद में उसे कुएं में ढकेल दिया जिससे उनकी मौत हो गई। सितारा देवी ने जेठ समेत चार के खिलाफ लंका थाने में तहरीर दी। पुलिस का कहना है कि प्रारंभिक जांच-पड़ताल में पड़ोसियों से पूछताछ की गई तो कई लोगों का कहना था कि झगड़े के बाद अशोक खुद कुएं में कूद गया था। पुलिस का कहना है पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा कि मौत कैसे हुई। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned