बसपा ने बनारस की दो सीटों पर बदले चेहरे

बसपा ने बनारस की दो सीटों पर बदले चेहरे
bsp leaders

कई दलों से घूमकर आए वीरेंद्र सिंह को शिवपुर से टिकट

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के सियासी संग्राम में बसपा हर हाल में फतह करना चाहती है।  दयाशंकर कांड के बाद बैकफुट पर आई बसपा अब फूंक-फूंककर कदम रख रही है। वोट के लिए हर हथकंडे अपना रही बसपा ने कांग्रेस छोड़कर बसपा में शामिल हुए पूर्व मंत्री वीरेंद्र सिंह को शिवपुर विधानसभा से टिकट थमाया है। शिवपुर विधानसभा से उदयलाल मौर्य विधायक हैं जिन्हें बसपा ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में निष्कासित कर दिया है। 

बसपा के राज्यसभा सांसद व जोनल कोआर्डिनेटर मुनकाद अली ने बताया कि दो विस क्षेत्रों में पूर्व घोषित प्रत्याशियों के टिकट काटकर नए चेहरों को मैदान में उतारा है। कैंट विस क्षेत्र से विनय शुक्ला को हटकार पार्टी ने रिजवान अहमद को मौका दिया है और उत्तरी विधानसभा सीट अरुण जायसवाल को हटाकर सुजीत मौर्य को टिकट दिया गया है। मुनकाद अली का कहना है कि पार्टी ने दोनों टिकट विधानसभा क्षेत्रों के समीकरण को ध्यान में रखते हुए दिए गए हैं।


रविवार को बसपा की हुई बैठक में कांग्रेस से दामन छुड़ाकर आए प्रदेश के पूर्व मंत्री वीरेंद्र सिंह, पार्षद विकासचंद तिवारी समेत लगभग दो सौ से अधिक लोगों ने बसपा की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर जोनल कोआर्डिनेटर मुनकाद अली ने पार्टी में शामिल लोगों को बधाई दी और संकल्प दिलाया कि मायावती को उत्तर प्रदेश का मुखिया बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। 
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned