बाहुबली मोख्तार अंसारी पर सीबीआई का चाबुक, चुनावी तैयारियों को लगा झटका

बाहुबली मोख्तार अंसारी पर सीबीआई का चाबुक, चुनावी तैयारियों को लगा झटका
mukhtar ansari

बाहुबली एमएलसी बृजेश गैंग में ख़ुशी की लहर

वाराणसी. पूर्वांचल के बाहुबली विधायक मोख्तार अंसारी और उनकी पार्टी कौमी एकता दल की चुनावी तैयारियों को जोर का झटका लगा है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में दमखम के साथ उतरने की तैयारी में लगे बाहुबली विधायक पर कानून का ऐसा डंडा चला है कि सारे मंसूबे फिलहाल पानी में डूबते नजर आ रहे हैं। दिल्ली की सीबीआई कोर्ट ने भाजपा विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड में मोख्तार अंसारी की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। मोख्तार की जमानत अर्जी का विरोध करते हुए सीबीआई ने अदालत में कहा कि पूर्वांचल में मोख्तार का टेरर है। जमानत पर रिहा होने के बाद मोख्तार गवाहों को प्रभावित कर सकता है। सीबीआई कोर्ट के फैसले से जहां मोख्तार खेमे में मायूसी है वहीं बाहुबली एमएलसी बृजेश सिंह, दिवंगत विधायक कृष्णानंद राय के समर्थकों में खुशी की लहर है। 

गौरतलब है कि वर्ष 2006 में भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की गाजीपुर में हुई नृशंस हत्या के मामले में मऊ के बाहुबली विधायक मोख्तार अंसारी अरसे से सलाखों के पीछे है। अधिकतर मामलों में बरी हो चुके बाहुबली मोख्तार अंसारी के लिए यह केस गले की फांस बन चुका है क्योंकि प्रकरण में रेल राज्यमंत्री व दिवंगत विधायक के करीबी मनोज सिन्हा भी गवाह हैं। दिल्ली की सीबीआई कोर्ट में मोख्तार के खिलाफ उनकी गवाही भी हो चुकी है जो काफी अहम मानी जा रही है।
विधायक मोख्तार अंसारी की जमानत अर्जी खारिज होने से सबसे अधिक चैन की सांस किसी गिरोह ने ली है तो वह है बाहुबली एमएलसी बृजेश के गिरोह ने। बृजेश सिंह और मोख्तार अंसारी के बीच पुरानी अदावत जगजाहिर है। हालांकि उम्र के इस ढलान पर दोनों गिरोह के लिए सफेदपोश का चोला ओढऩे के साथ ही अपना आर्थिक साम्राज्य भी बनाए रखना चुनौती है। मोख्तार व उसके खास लोगों के अंदर होने से आर्थिक साम्राज्य के साथ ही रसूख गिर रहा है जबकि विरोधी गैंग यानि एमएलसी बृजेश सिंह के गिरोह की ताकत लगातार बढ़ रही है। जमानत अर्जी खारिज होने से मायूस मोख्तार समर्थक अब हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने के प्रयास में हैं लेकिन जानकारों का कहना है वहां भी राहत मिलने की उम्मीद धुंधली है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned