चंद्रशेखर रावण का वाराणसी में रोड से पहले ही शुरू हुआ विरोध

By: Sunil Yadav

Published: 29 Mar 2019, 08:23 PM IST

Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

वकीलों ने जिला प्रशासन से रोड़ शो करने की इजाजत नहीं देने की रखी मांग

1/2

वकीलों ने जिला प्रशासन से रोड़ शो करने की इजाजत नहीं देने की रखी मांग

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का एलान कर चुके भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण का वाराणसी दौरा विवादों में घिरता नज़र आ रहा है। निर्वाचन कार्यालय में चंद्रशेखर को वाराणसी में रोड़ शो करने की इजाजत मिलने से पहले ही वाराणसी में वकीलों ने चंद्रशेखर का विरोध शुरू कर दिया है। वकीलों ने कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए ज़िला प्रशासन को पत्र लिखकर मांग की है कि चंद्रशेखर रावण को रोड शो की अनुमति ना दी जाए।

 

 

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 2019 लोकसभा चुनाव में वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की चुनौती दे चुके भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर शनिवार को एक दिवसीय दौरे पर वाराणसी आ रहे हैं। साथ ही वह वाराणसी में एक रोड़ शो भी करना चाह रहे थे। इस संबंध में खुद को भीम आर्मी का जिला प्रभारी बताने वाले शख्स ने जिला निर्वाचन कार्यालय से चंद्रशेखर के रोड़ शो करने की इजाजत के बाबत पत्र भी सौंपा है। जिसके बाद वाराणसी के वकीलों ने यह कहते हुए कि भीम आर्मी के चीफ लगातार देश विरोधी और धर्म विरोधी बयान देते रहते हैं और उनके कार्यकर्ता धार्मिक भावनाओं को भड़काते हैं। ऐसे में धर्म की नगरी काशी में उनके रोड शो होने से धार्मिक सौहार्द बिगड़ सकता है। इस वजह से वकील जिला प्रशासन से मांग करते हैं उन्हें वाराणसी में कार्यक्रम करने की इजाजत न दी जाए। इतना ही नहीं, वकीलों ने यह भी कहा कि यदि उनके कार्यक्रम के दौरान कुछ भी धार्मिक या सामाजिक सौहार्द बिगड़ता है तो इसके जिम्मेदार भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर होंगे। हालाकिं, अब देखना होगा कि चंद्रेशेखर को वाराणसी में रोड़ शो करने की जाजत मिलती है या नहीं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned