BIG BREAKINGअखिलेश सरकार मेहरबान, बाहुबली मोख्तार को लाए "घर"

BIG BREAKINGअखिलेश सरकार मेहरबान, बाहुबली मोख्तार को लाए
mulaym and mokhtar

सपा से गलबहियां पर मिला तोहफा

वाराणसी. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में दोबारा जीत का परचम लहराने के लिए सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव व उनके सीएम बेटे अखिलेश यादव ने पूर्वांचल में भाजपा और बसपा को पटखनी देने के लिए मऊ के बाहुबली विधायक मोख्तार अंसारी जो इस समय आगरा जेल में निरूद्ध है, से हाथ मिला लिया है। विश्वसनीय सूत्रों की माने तो मोख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का एक-दो दिन में समाजवादी पार्टी के अंदर विलय हो जाएगा। विधानसभा चुनाव में अंसारी बंधुओं की यह रणनीति कितनी फायदेमंद साबित होगी यह तो भविष्य बताएगा लेकिन सरकार से गलबहियां करने का फायदा मोख्तार अंसारी को मिल गया है। प्रदेश सरकार ने बाहुबली मोख्तार अंसारी को आगरा जेल से लखनऊ जेल में स्थानांतरित करने का फरमान जारी किया है। 
उत्तर प्रदेश शासन में अनु सचिव हरि नारायण गिरी की ओर से महानिरीक्षक कारागार एवं सुधार सेवाएं को पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि जेल मैनुअल में निहित प्रावधानों के तहत विचाराधीन बंदी, विधायक मोख्तार अंसारी को जिला कारागार लखनऊ में स्थानांतरित करने की अनुमति इस शर्त के साथ स्वीकृत की जाती है कि महराष्ट्र सरकार बनाम सईद सुहैल शेख व अन्य मामलों सर्वोच्च न्यायालय की ओर से प्रावधानित व्यवस्था के तहत ही है। 

मोख्तार के लखनऊ में आने से बढ़ेगी हलचल
प्रदेश की राजधानी लखनऊ के जिला जेल में मोख्तार अंसारी को स्थानांतरित किए जाने की खबर मिलते ही सियासी गलियारे में हलचल मच गई है। फिलहाल हालात तो बयां कर रहे हैं कि मोख्तार के सिर पर सरकार का हाथ है तो वह लखनऊ जेल से अपनी सरकार चलाएगा। लखनऊ में प्रदेश के सभी माननीयों का आना-जाना लगा रहता है। अब मुख्यमंत्री आवास के साथ ही कुछ सफेदपोश जिला जेल का चक्कर लगाने को तैयार हो रहे हैं। 
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned