पीएम मोदी के गढ़ में सीएम योगी के सपने को पूरा करने में खर्च होंगे इतने करोड़ रुपये

पीएम मोदी के गढ़ में सीएम योगी के सपने को पूरा करने में खर्च होंगे इतने करोड़ रुपये
PM Narendra Modi

Devesh Singh | Publish: Apr, 27 2017 05:25:00 PM (IST) Patrika Varanasi

सीएम ने काम खत्म होने की तय की है अवधि, जानिए क्या है कहानी

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में सीएम योगी आदित्यनाथ को अपना सपना पूरा करने में 44 करोड़ से अधिक की धनराशि खर्च करनी होगी। सीएम योगी ने काम खत्म करने की अवधि को भी तय कर दिया है, जिसके चलते काम शुरू हो गया है और लोगों को इसका लाभ मिलने लगेगा।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी की सड़कों को सही करने के लिए 15 जून का समय दिया है। यूपी चुनाव जीतने के बाद से ही सीएम योगी ने प्रदेश की सड़कों की दशा सुधारने की कवायद शुरू की है। 15 जून के बाद मानसून आ जाता है और खस्ताहाल सड़कों के चलते लोगों को आवागमन में परेशानी का सामना करना होता है। सीएम योगी के निर्देश का असर हुआ है कि सड़कों को ठीक करने में सरकारी अमला जुट गया है।


44 करोड़ से अधिक की धनराशि होगी खर्च
पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र की बात की जाये तो यहां की सड़कों को ठीक कराने की जिम्मेदारी नगर निगम व वीडीए की है। शहर की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के लिए कार्य योजना बनाने के साथ काम शुरू किया गया है। सड़कों को ठीक करने के लिए तीन चरण में काम किया जायेगा। पहले चरण में शहर की 60 किलोमीटर की 100 सड़कों को शामिल किया गया है, जिसके लिए 38 करोड़ की रकम जारी की गयी है। दूसरे चरण में 25 किलोमीटर की सड़क बनाने की तैयारी है, जबकि तीसरे चरण में 36 किलोमीटर की सड़क बनायी जायेगी। काशी के सड़कों की खस्ताहाल के चलते लोगों को नहीं लगता था कि यह पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र है।


आसान नहीं है काशी की सड़कों की दशा सुधारना
काशी की सड़कों की दशा सुधारना आसान नहीं है। यहां की सीवेज व्यवस्था को सुधारने के लिए पाइप लाइन डाली जा रही है। इसके अतिरिक्त आईपीडीएस के तहत बिजली के तारों को भूमिगत किया जा रहा है। दोनों ही काम के लिए सड़के खोदी जा रही है। इसी बीच शहर में गैस पाइप लाइन भी बिछायी जानी है। जाहिर है इस काम के लिए भी सड़कों की खुदाई होनी है। ऐसे में देखना है कि पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में सीएम योगी के आदेश का कितना असर होता है और करोड़ों खर्च करने के बाद भी सड़कों के सेहत सुधारती है या नहीं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned