ठंड ने नवबर में ही बनाया रिकाॅर्ड, वाराणसी दो डिग्री और नीचे आया तापमान

  • लगातार दूसरे दिन बनारस में तापमान में गिरावट तेज
  • सर्द हवाओं और पहाड़ों पर बर्फबारी ने बढ़ायी ठंड

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

वाराणसी. इस बार ठंड नवंबर से ही अपना रूप दिखाने लगी है। अभी पूरी सर्दी पड़ी है, जबकि नवंबर के महीने में ही तापमान में तेजी से गिरावट जारी है। वाराणसी में तो नवंबर में ही ठंड ने इस सीजन का अब तक का रिकाॅर्ड बना दिया है। वाराणसी में तापमान सबसे कम 8 डिगी तक पहुंच गया। रात में गलन भी बढ़ी और दिन भर कड़ी धूप के साथ सर्द हवाएं भी चल रही हैं। सर्दी का असर अब लोगों की दिनचर्या पर भी नजर आने लगा है।

 

 

पूर्वी उत्तर प्रदेश में इन दिनों मौसम तेजी से बदल रहा है। वाराणसी, प्रयागराज, गोरखपुर, आजमगढ़ समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलों में सर्दी बढ़ी है। ग्रामीण इलाकों में ठंड का एहसास अधिक है। पहाड़ी इलाकों में लगातार हो रही बारिश के चलते इधर सर्दी बढ़ रही है। पिछले दो-तीन दिनों से चल रही सर्द हवाओं के चलते रविवार को जहां पारा 9.4 डिग्री पर आ गया था वहीं सोमवार को यह और नीचे गिरकर 8 डिग्री पर पहुंच गया, जो इस सीजन का सबसे कम तापमान है।


अधिकतम तापमान में भी तेजी से बदलाव हो रहा है। रविवार को जहां अधिकतम तापमान 25 डिग्री रहा वहीं सोमवार को यह 26 डिग्री रहा जो सामान्य तापमान (29 डिग्री) से तीन डिग्री कम है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अभी अधिकतम तापमान 25, जबकि न्यूनतम तापमान 11 से 12 डिग्री सेल्सियस के ही आस पास बना रहेगा। जैसे-जैसे सर्दी बढ़ेगी धुंध और कोहरा भी गहराएगा।


मौसम विशेषज्ञ के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से अगले 14 से 48 घंटों में आसमान में बादल छा सकते हैं। मैदानी इलाकों में बादलों की आवाजाही की संभावना है। इन सबसे ठंड में मामूली राहत मिल सकती है। हालांकि जैसे ही आसमान साफ होगा ठंड फिर से बढ़ने लगेगी।

weather update
Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned