कोरोना मरीजों को फोन कर कमिश्नर ने पूछा कैसी हैं अस्पताल की सुविधाएं, खाना पानी नास्ता और डॉक्टरों के बारे में ली जानकारी तो मिला ये जवाब

बनारस के कमिश्नर दीपक अग्रवाल खुद मरीजों को फोन कट उनसे हैंल जान रहे हैं ताकि वो निडर होकर सुविधाओं के बारे में बता सकें।

By: Neeraj Patel

Published: 30 May 2020, 10:59 AM IST

वाराणसी. कोरोना महामारी से निपटने के लिए सरकार के साथ ही प्रशासन भी युद्द स्तर पर काम कर रहा है। जहां बाहर कोरोना की चेन तोड़ने के लिए तमाम उपाय किये जा रहे हैं तो वहीं अस्पताल में दाखिल मरीजों का हाल खुद बड़े अधिकारी ले रहे हैं और उन्हें साहस बंधाने का कर रहे हैं।

इन दिनों बनारस के कमिश्नर दीपक अग्रवाल खुद मरीजों को फोन कट उनसे हैंल जान रहे हैं ताकि वो निडर होकर सुविधाओं के बारे में बता सकें। साथ ही अस्पताल की सुविधाओं का निरीक्षण भी कर रहे हैं। कमिश्नर ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय, राज्य कर्मचारी बीमा निगम चिकित्सालय, शिवप्रसाद गुप्ता मंडलीय चिकित्सालय व राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय का औचक निरीक्षण किया। अस्पताल में बेहतर सुविधाओं के लिए कई निर्देश भी दिए।

बताएं जल्द दूर होगी परेशानी

वहीं उन्होंने खुद मरीजों को फोन पर कहा मैं कमिश्नर दीपक अग्रवाल बोल रहा हूं, आप कैसे हैं? ईश्वर आपको जल्द से जल्द स्वस्थ करेंगे। मरीजों से उन्होंने पूछा चिकित्सालय में आपको कोई परेशानी तो नहीं है? नाश्ता, लंच और डिनर समय-समय पर मिल रहा है? आपके बेड का चादर रोजाना बदला जाता है? डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ आपका हाल पूछने आपके पास आते हैं? किसी भी तरह की परेशानी हो तो बताइए व्यवस्था तत्काल दुरुस्त कराया जाएगा।

कहीं फिट कहीं फेल मिला सिस्टम

कमिश्नर ने फोन पर पं. दीनदयाल उपाध्याय हॉस्पिटल में भर्ती तीन मरीजो से बात कर हैंल जाना तो वहीं ईएसआई हॉस्पिटल में दो मरीजों से फोन पर हैंल जाना। जहां दीं दयाल में सभी सुविधाएं चुस्त दुरुस्त पता चली तो वहीं राज्य कर्मचारी बीमा निगम चिकित्सालय के मरीज द्वारा सफाई व्यवस्था के साथ-साथ खाने की भी व्यवस्था समुचित न होना बताया गया। जिसके बाद कमिश्नर ने इसे स्वास्थ विभाग से जल्द दूर करने को कहा।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned