मोक्ष नगरी में मणिकर्णिका का हाल बेहाल

मोक्ष नगरी में मणिकर्णिका का हाल बेहाल
inspection

विश्वनाथ मंदिर के निरीक्षण के दौरान बिफरे कमिश्नर

वाराणसी.
काशी को मोक्ष नगरी कहा जाता है। देश दुनिया से तमाम लोग यहाँ मोक्ष पाने काशी आते हैं। विश्वप्रसिद्ध मणिकर्णिका घाट जहाँ काशी समेत पूर्वांचल और बिहार के लोग दाह संस्कार के लिए आते हैं। वाराणसी प्रशासन की अनदेखी के चलते आज मणिकर्णिका घाट का हाल बदहाल है। 
वाराणसी मण्डलायुक्त नितिन रमेश गोकर्ण और विश्वनाथ मन्दिर मुख्य कार्यपालक अधिकारी एमपी सिंह ने शनिवार को विश्वनाथ मंदिर और मणिकर्णिका घाट क्षेत्र का निरीक्षण किया। कमिश्नर दोपहर में घाट पहुंचे और क्षेत्र का दौरा किया। प्राचीन मणिकर्णिका कुण्ड में गंदगी का अम्बार फैला देख भड़क उठे और उसे जल्द से जल्द स्वच्छ करने का निर्देश दिया। साथ ही घाट पर बने बिड़ला भवन का जायजा लिया और शव यात्रा में आये शव दाहयों को भवन में रुकने हेतु व्यवस्था को देखा जो कमिया मिली उसे सही करने का आदेश दिया।

विश्वनाथ मंदिर की दुर्व्यस्था पर चढ़ा पारा

मणिकर्णिका घाट के निरीक्षण के बाद कमिश्नर और मुख्य कार्यपालक अधिकारी खोआ गली , नीलकंठ , सरस्वती फाटक, कालिका गली, शनि देव चैनल होते हुए सारे पॉइंटो का निरीक्षण किया। ड्यूटी पर तैनात सुरक्षाकर्मियों का हाल जाना साथ ही उनकी समस्याओं को जल्द ठीक करने का निर्देश दिया। फिर दोनों अधिकारी मन्दिर परिसर पहुंचे और वहां की कमियों का हाल जाना और सावन से पूर्व सारी व्यस्था को चुस्त दुरुस्त करने का निर्देश दिया।

नहीं मिलता खाना, वेतन भी नहीं मिला
मन्दिर में दोपहर में नियमित रूप से बाबा का भोग खाने वाले डंडी स्वामियों से भी कमिश्नर से मुलाकात की और कहा की तीन जून से उन्हें न तो ठीक से खाने को भोग मिल रहा और ना ही दक्षिणा उनकी इस शिकायत को दोनों अधिकारियों ने सुना और आश्वासन दिया की जो भी दिक्कत है उसे ठीक कर दिया जायेगा। मन्दिर बिजलीकर्मी ने भी दोनों अधिकारियों से शिकायत दर्ज कराते हुए कहा की चार महीने से मेरा भी वेतन रुका हुआ और अब तक नहीं मिला है। उसे भी कहा गया की जल्द तुमको पूरा वेतन दिया जायेगा।

अपर कार्यपालक अधिकारी को लगाई फटकार

बिजलीकर्मी और दंंण्डी स्वामियों की शिकायत सुनने के बाद कमिश्नर ने अपर कार्यपालक अधिकारी पीएन द्वेदी को फटकार लगाते हुए कहा की इतनी समस्याएं है इसकी जानकारी पहले क्यों नही दी गई। अधिकारी ने ये भी कहा कि मन्दिर कर्मियों को जो समस्याएं है और किसका कितना पैसा बाकी है इन सबका विवरण जल्द से जल्‍द दे वरना आप को नौकरी से बर्खास्त कर दिया जायेगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned