रक्षा संपदा की जमीन को मुद्दा बनायेगी कांग्रेस, पूछा पहले बताये किस विभाग की है सम्पत्ति

Devesh Singh

Publish: Sep, 11 2018 04:15:59 PM (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India

वाराणसी. रक्षा संपदा की एक सौ साठ एकड़ की जमीन को कांग्रेस मुद्दा बनायेगी। कांग्रेस ने सवाल पूछा है कि पहले तो यह बताया जाय कि जमीन किस विभाग की सम्पत्ति है। जमीन को लेकर भ्रम की स्थिति है इसके चलते एक महिला की जान तक चली गयी है। पार्टी किसी भी हालत में हजारों लोगों के साथ अन्याय नहीं होने देगी। यह बात छावनी बोर्ड के पूर्व उपाध्यक्ष व कांग्रेस के मंडल प्रवक्ता शैलेन्द्र सिंह ने मंगलवार को इंग्लिशिया लाइन स्थिति पार्टी के कार्यालय में मीडिया से बातचीत में कही।
यह भी पढ़े:-पेट्रो पदार्थ मूल्य वृद्धि के खिलाफ बैलगाड़ी लेकर उज्जवला योजना का सिलेंडर लौटाने निकली महिलाएं

उन्होंने कहा कि सबसे पहले यह बताया जाये कि यह जमीन किस विभाग के अधीन है। रक्षा सम्पदा ने 1894में जमीन का प्रबंधन नगर निगम को दे दिया था। इसके बाद यहां रहने वाले लोगों से नगर निगम टैक्स लेता है। यहां के निवासी सीवर, जलकल आदि भी देते हैं। शैलेन्द्र सिंह ने कहा कि यदि इस जमीन का प्रबंधन वापस रक्षा सम्पदा को मिल गया है तो उससे जुड़े दस्तावेज दिखाने चाहिए। इस जमीन पर हजारों परिवार रहता है और कई लोगों ने बकायदे रजिस्ट्री तक करायी है। इसी बीच एक व्यक्ति जमीन को लेकर हाईकोर्ट जाता है और कोर्ट से नियमानुसार कार्रवाई का आदेश आता है इसके बाद रक्षा सम्पदा के लोग एक सामूहिक नोटिस जारी कर देते हैं जबकि यहां रहने वालों लोगों को नोटिस भेजा जाना चाहिए था जिसके बाद वह अपनी स्थिति स्पष्ट कर पाते। कांग्रेस के मंडल प्रवक्ता शैलेन्द्र सिंह ने कहा कि लोगों में भ्रम की स्थिति बन गयी है। सुभाष नगर स्थित एक महिला पिछले कुछ दिनों से बेहद परेशान थी वह लगातार कह रही थी कि अब सेना के लोग आयेंगे और हम लोगों को बेघर कर देंगे। वास्तविकता यह है कि सेना से इस जमीन का मतलब नहीं है लेकिन भ्रम के चलते स्थानीय लोग बेहद परेशान है। उन्होंने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से इस संदर्भ में वार्ता हो चुकी है यदि जमीन के मालिकाना हक को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं की गयी तो हम आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। साफ कहना चाहता हूं कि किसी भी हाल में स्थानीय लोगों के साथ अन्याय नहीं होगा।
यह भी पढ़े:-पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र की तस्वीरे, कही खुद को जंजीर से जकड़ा, कही गांधीवादी तरीके से कराया बंद

Ad Block is Banned