मोदी को प्रसन्न करने के लिए झाड़ू और भाजपाइयों का क्या है कनेक्शन, पढि़ए ये खबर 

मोदी को प्रसन्न करने के लिए झाड़ू और भाजपाइयों का क्या है कनेक्शन, पढि़ए ये खबर 
pm modi in varanasi (file foto)

मोदी के आने की सूचना पर अचानक भाजपाइयों के हाथ में आ जाता है झाड़ू

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र बनारस हैं। बीजेपी की धुर विरोधी पार्टी आप यानि आम आदमी पार्टी का चुनाव चिन्ह झाड़ू है। ऐसा क्या हो जाता है कि नरेंद्र मोदी जब भी अपने संसदीय क्षेत्र बनारस में कदम रखने वाले होते हैं अचानक भाजपा नेता उनके स्वागत की तैयारियों के बजाय हाथों में झाड़ू उठा लेते हैं। घरों के कोने में पड़ी झाड़ू और गले में भाजपा की पट्टी टांगकर सड़कों पर उतर जाते हैं। खास बात यह कि झाड़ू कार्यक्रम के बाबत मीडिया को सूचित किया जाता है। सेल्फी से लेकर ग्रुप फोटोग्राफी को सोशल मीडिया पर टैग करने के साथ ही उसे अखबारों में छपवाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाते हैं। 
दरअसल प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2014 में आठ नवंबर को स्वच्छ भारत अभियान और स्वच्छ गंगा-निर्मल गंगा के तहत अस्सी घाट पर फावड़ा चलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया था। एक माह बाद 25 दिसंबर को भी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी आए नरेंद्र मोदी ने काशी की गलियों में झाड़ू लगाकर स्वच्छता अभियान की शुरूआत की थी। स्वच्छ भारत अभियान को गति देने के लिए नौ रत्न का फार्मूला भी मोदी ने इजाद किया था।

 ये बने थे मोदी के नवरत्न

प्रधानमंत्री के नौ रत्नों में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सांसद व भोजपुरी कलाकार मनोज तिवारी, साहित्यकार मनु शर्मा, पद्मश्री प्रो. देवी प्रसाद, हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव, क्रिकेटर सुरेश रैना और मो. कैफ, सूफी गायक कैलाश खेर और स्वामी रामभद्राचार्य शामिल थे। 
 
बनी थी चेन पर बीच में टूटी

पीएम के मंत्र के बाद काशी में नौ रत्नों की बाढ़ आ गई थी। जिसे देखो वह अपनी-अपनी नौ लोगों की टीम बना रहा था। हर किसी ने पीएम तक संदेश भिजवाने की कोशिश की कि उनके बताए मंत्र से वह बनारस को स्वच्छ कर देंगे। पर ऐसा हुआ नहीं क्योंकि यह चेन सिर्फ समाचार पत्रों व इलेक्ट्रानिक मीडिया में सुर्खियां बनकर रह गई। अलबत्ता प्रधानमंत्री का जैसे ही वाराणसी आने का प्रोटोकाल आता है। अगले दिन भाजपाई सड़क पर झाड़ू लेकर उतर जाते हैं। शनिवार को भी बनारस के तमाम इलाकों में भाजपाइयों ने झाड़ू लगाया और सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीरें शेयर की।

पीएम और पीएमओ सब जानता है
मोदी के आने पर भाजपाइयों में झाड़ू लगाने के खेल को प्रधानमंत्री मोदी हों या फिर उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी में खुफिया नजर रखने वाला पीएमओ, भाजपा कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों की एक-एक हरकत पर नजर रखता है। शायद यहीं वजह है कि अपने वाराणसी दौरे के दौरान पीएम मोदी भी अपनी पीड़ा व्यक्त कर चुके हैं कि बनारस में बहुत गंदगी है, यहां सिर्फ हुंकार भरी जाती है पर काम नहीं होता है। पीएम मोदी का इशारा अपनी पार्टी के लोगों पर ही था। 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned