scriptCourt commissioner Ajay Kumar Mishra will survey Kashi Vishwanath Gyanvapi complex on 19 April | काशी विश्वनाथ-ज्ञानवापी परिसर वाली शृंगार गौरी मंदिर का कोर्ट कमिश्नर करेंगे सर्वे | Patrika News

काशी विश्वनाथ-ज्ञानवापी परिसर वाली शृंगार गौरी मंदिर का कोर्ट कमिश्नर करेंगे सर्वे

काशी विश्वनाथ-ज्ञानवापी परिसर स्थित मां शृंगार गौरी के नियमित दर्शन-पूजन की इजाज की मांग वाली याचिका पर सिविल जज सीनियर डिवीजन ने कोर्ट कमिश्नर नियुक्त किया है। ये कोर्ट कमिश्नर अब परिसर का सर्वे कर अपनी रिपोर्ट 20 अप्रैल को कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत करेंगे।

वाराणसी

Published: April 16, 2022 04:54:51 pm

वाराणसी. काशी विश्वनाथ-ज्ञानवापी परिसर में मां शृंगार गौरी का मंदिर है जहां वासंतिक नवरात्र में भक्तों का रेला लगता है। यह मंदिर अन्य दिनों में बंद रहता है। इस मंदिर को प्रतिदिन खोलने और भक्तों के पूजन-अर्चन की इजाजत के लिए सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर की अदालत में वाद दाखिल किया गया है। इस पर सिविल जज ने कोर्ट कमिश्नर की नियुक्ति की है। मामले की अगली सुनवाई 20 अप्रैल को होनी है। उसी दौरान कोर्ट कमिश्नर अपनी सर्वे रिपोर्ट कोर्ट में पेश करेंगे।
काशी विश्वनाथ- ज्ञानवापी परिसर
काशी विश्वनाथ- ज्ञानवापी परिसर
मां शृंगार गौरीअयोध्या विवादित ढांचा गिराए जाने के बाद से बंद है नियमित पूजन

शृंगार गौरी के नियमित दर्शन-पूजन की इजाजत के लिए सिविल जज सीनियर डिवीजन की कोर्ट में राखी सिंह व अन्य ने याचिका दायर की है। याचिका में प्रार्थना की गई है कि इस मंदिर में 1991 के पूर्व की भांति पूजन-अर्चन की सुविधा बहाल की जाए। बता दें कि अयोध्या के विवादित ढांचा गिराए जाने के बाद से मंदिर में श्रद्धालुोंओं को केवल वासंतिक नवरात्र में दर्शन -पूजन की इजाजत मिलती है। ऐसा सुरक्षा की दृष्टि से किया गया है।
याचिकाकर्तांओं का परिसर स्थित विश्वेश्वर परिवार के विग्रहों को यथा स्थिति में रखने का आग्रह

याचिका कर्ताओ ने काशी विश्वनाथ-ज्ञानवापी परिसर स्थित शृंगार गौरी सहित विश्वेश्वर परिवार के सभी विग्रहों को यथास्थिति में रखने का आग्रह भी किया गया है। इस संबंध में गत आठ अप्रैल को याची के अधिवक्ता ने कोर्ट कमिश्नर नियुक्त करने का आग्रह किया था, कहा था कि कोर्ट कमिश्नर की नियुक्ति कर मौके का सर्वे कराकर रिपोर्ट मंगाई जाए। इसी पर कोर्ट ने वरिष्ठ अधिवक्ता अजय कुमार मिश्र को कोर्ट कमिश्नर नियुक्त किया है। साथ ही मौके का सर्वे कर रिपोर्ट मंगाई है।
सिविल जज सीनियर डिवीजन अदालत में 20 को होनी है सुनवाई

कोर्ट कमिश्नर अजय कुमार मिश्र ने बताया है कि वो 19 अप्रैल को मौका मुआयना करेंगे। आवश्यकतानुसार वीडियो भी बनाई जाएगी। फिर 20 अप्रैल को प्रस्तावित सुनवाई के दौरान अपनी रिपोर्ट न्यायालय के समक्ष रखेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

जापान में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, टोक्यो में जापानी उद्योगपतियों से की मुलाकातज्ञानवापी मस्जिद मामलाः सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई एक और याचिका, जानिए क्या की गई मांगऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में भीषण सड़क हादसा, पूर्णिया में ट्रक पलटने से 8 लोगों की मौतश्रीनगर पुलिस ने लश्कर के 2 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामदGood News on Inflation: महंगाई पर चौकन्नी हुई मोदी सरकार, पहले बढ़ाई महंगाई, अब करेगी महंगाई से लड़ाईकोरोना वायरस का नहीं टला है खतरा, डेल्टा-ओमिक्रॉन के बाद अब दो नए सब वैरिएंट की दस्तक से बढ़ी चिंता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.