क्राइम ब्रांच की फिर मिली बड़ी सफलता, व्यापारी की हत्या करने जा रहे 25 हजार का इनामी समेत दो बदमाश गिरफ्तार

Devesh Singh

Publish: Sep, 11 2018 05:31:01 PM (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India

वाराणसी. क्राइम ब्रांच को फिर बड़ी सफलता मिली है। व्यापारी की हत्या करने जा रहे 25 हजार इनामी समेत दो बदमाशों को मुठभेड़ के बाद पकड़े गये हैं। बदमाशों के पास से अवैध असलहा व लूट के पैसे भी बरामद हुए हैं। पकड़े गये बदमाश चंदन सोनकर गिरोह के हैं जो पूर्वांचल में भाड़े पर हत्या व लूट करने के लिए जाना जाता है।
यह भी पढ़े:-सीओ ने सड़क पर बेतरतीब खड़े सैकड़ों वाहन का कटवाया चालान, कहा नहीं सुधरे तो दर्ज होगी एफआईआर


क्राइम ब्रांच प्रभारी विक्रम सिंह को मुखबिर से सूचना मिली कि तीन बदमाश किसी की हत्या करने के लिए जैतपुरा की ओर से नक्खीघाट पुल की तरफ जा रहे हैं। क्राइम ब्रांच प्रभारी ने इसकी सूचना सारनाथ पुलिस को दी। इसके बाद क्राइम ब्रांच व सारनाथ पुलिस ने नक्खीघाट स्थित वरुणा पुल के पास घेराबंदी कर ली। थोड़ी देर में एक बाइक पर सवार होकर तीन लोग आते हुए दिखायी दिये। मुखबिर के इशारे पर जब क्राइम ब्रांच की टीम ने बदमाशों को रोकने का प्रयास किया। बदमाशों ने बचने के लिए फायर कर दिया और फिर बाइक घूमा कर वापस जाने लगे। हड़बड़ी में उनकी बाइक फिसल गयी। इसके बाद क्राइम ब्रांच व सारनाथ पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया। तलाशी लेने पर उनके पास कई अवैध असलहा, लूट के 1200 रुपये, बाइक व तीन मोबाइल फोन बरामद हुआ है। पकड़े गये बदमाशों पर पहले से भी मुकदमे दर्ज हैं। पकड़े गये बदमाशों ने अपना नाम हरीश यादव निवासी चंदवक जौनपुर, अनुराग चौरसिया निवासी सेनपुरा थाना चेतगंज व विक्की कुमार बड़ी पियरी थाना चौक बताया है। हरीश यादव दो साल से फरार था उस पर 25 हजार का इनाम घोषित था।
यह भी पढ़े:-सिगरा पुलिस को मिली सफलता, 60 लाख मूल्य की हेरोइन के साथ चार गिरफ्तार

दो साल से फरार था हरीश, व्यापारी की हत्या की ली थी सुपारी
इनामी बदमाश हरीश यादव दो साल से फरार था। चंदन गिरोह ने औरंगाबाद निवासी एक व्यापारी की हत्या की सुपारी ली थी जिसके लिए तीनों बदमाशा चंदौली से असलहा खरीदने जा रहे थे। हरीश काफी शातिर किस्म का बदमाश है। वर्ष 2016 में राजू सेठ व उदय सेठ का अपहरण करके चंदवक में हत्या, वर्ष 2017 में चेतगंज में साइकिल व्यवसायी प्रेम प्रकाश गुप्ता को गोली मार लूट आदि मामलों में वांछित था। कुछ दिनों पूर्व कई थानों में चेन स्नेचिंग, लूट आदि कई मामलों को इन्ही बदमाशों ने ही अंजाम दिया था। दमाशों को पकडऩे में क्राइम ब्रांच प्रभारी विक्रम सिंह के अतिरिक्त राकेश सिंह, सुमंत सिंह, रामभवन यादव, पुन्देव सिंह, सारनाथ थाना प्रभारी प्रवीण यादव आदि पुलिसकर्मी शामिल थे।
यह भी पढ़े:-आभूषण व्यवसायी से लूट के बाद तमंचे के बल पर किया पत्नी को अगवा, पुलिस प्रशासन में हड़कंप

क्राइम ब्रांच क ताबड़तोड़ बैटिंग जारी
बनारस की पुलिस खुलासा करने में फेल हो रही है लेकिन क्राइम ब्रांच की ताबड़तोड़ बैटिंग जारी है। जनवरी में 50 हजार के इनामी धर्मेन्द्र, 25 हजार के इनामी डब्ल्यू राय व 50 हजार के इनामी अशोक यादव, अप्रैल में 25 हजार के इनामी श्यामबाबू यादव, 15 हजार के इनामी देवेन्द्र मिश्रा, जून में 25 हजार के इनामी सादिक, 15 हजार के इनामी जावेद, जुलाई में 15 हजार के इनामी चर्चित वकील अभिषेक सिंह प्रिंस, अगस्त में 15 के इनामी बृजेश सेठ, 20 हजार का इनामी श्यामसुंदर व 25 हजार के इनामी सलमान के बाद 25 हजार के इनामी हरीश यादव को पकड़ा है।
यह भी पढ़े:-:-उफनती वरुणा नदी में मौत की छलांग लगा रहे बच्चों को जिलाधिकारी ने दी नसीहत
https://goo.gl/xwhjGS

Ad Block is Banned