गाडिय़ों का शीशा तोड़कर चारी करने वाला अंतर-प्रांतीय गैंग चढ़ा पुलिस के हत्थे

गाडिय़ों का शीशा तोड़कर चारी करने वाला अंतर-प्रांतीय गैंग चढ़ा पुलिस के हत्थे
inter provincial gang

गुजरात, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश के कई जिलो में करते थे चोरी

वाराणसी. क्राइम ब्रांच को गुरुवार को बड़ी सफलता हाथ लगी। जिले में लगातार हो रही गाडिय़ों का शीशा तोड़कर चोरियों से परेशान पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। इस तरह चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले गैंग पुलिस के सदस्य गुरुवार को हत्थे चढ़ गए। मुखबीर के सूचना पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने सभी शातिर चोरों को सारनाथ रेलवे स्टेशन के पास धर दबोचा, जहां से ये सभी भागने के फिराक में थे। इसमें दो पुरुष, तीन महिलायें सहित तीन नाबालिग बच्चे हैं, ये सभी महाराष्ट्र के नान्दुरवार जिले के निवासी हैं। 


पुलिस लाईन में आयोजित एक प्रेसवार्ता में एसएसपी नितिन तिवारी व एसपी क्राइम त्रिभुवन सिंह ने बताया की ये सभी एक ही परिवार के हैं, जो एक गैंग की तरह काम करता हैं। उन्होंने बताया कि चोरी को अंजाम देने में ये एक विशेष प्रकार की गुलेल में छर्रे का इस्तेमाल करते थे। गुलेल के छर्रे से गाड़ी का शीशा क्रैक हो जाता था, जिसे ये बाद में तोड़कर गाड़ी का सारा सामान ले उड़ते थे। पूछताछ के दौरान सभी ने बताया कि इन्होंने शहर में विभिन्न थाना क्षेत्रों में कार का शीशा तोड़कर व अन्य प्रकार से चोरी की घटना को अंजाम दिया है। गिरफ्तार अभियुक्त विश्वनाथ नायडू व वेंकटेश ने बताया कि हम लोगों को कन्नड, तेलगू, मराठी, हिन्दी सहित विभिन्न भाषाओं को ज्ञान है। बताया कि हम लोग कई छोटे-छोटे गैंग में घुमकर देश के विभिन्न स्थानों पर गाडिय़ों के शीशे तोड़कर चोरी करते थे। इन लोगो ने गुजरात, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश के कई जिलो में इस तरह की अपराधिक घटना को अंजाम दिया है। 


एसएसपी नितिन तिवारी ने बताया कि इनके गैंग के देवा, राहुल, कन्ना नाम के अपराधी फरार है, जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा। साथ उन्होंने कहा कि इन लोगों के साथ स्थानीय लोग भी मिले हो सकते हैं। कप्तान ने बताया की गिरफ्त में आए एक अभियुक्त जो की बाद में फरार हो गया के निशानदेही पर इन्हें पकड़ा गया। इनके पास से 12 और 315 बोर के दो तमंचे, 13 चोरी के मोबाईल, एक टैबलेट, पीली धातू के तीन कलाई घड़ी, छह कंगन, एक लेडीज माला, एक कान के टप्स, एक अंगूठी, सफेद धातू के दो कंगन, आठ पायल, सिक्के, चार बिछुआ, चार हजार नकद और घटना में प्रयोग होने वाले सामान की बरामदगी की गई है। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned