प्रधानमंत्री के शहर बनारस में "चाय" का संकट 

प्रधानमंत्री के शहर बनारस में
crisis of tea in banaras city

बनारस में चाय की दर्जनों दुकानें बंद, जानिए आखिर क्यों अड़ी पर चाय के लिए तरस रहे नगरवासी

वाराणसी. ट्रेन में चाय बेचने से लेकर प्रधानमंत्री कुर्सी तक का सफर करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में इन दिनों चाय की चुस्कियों के साथ काशी की गलियों से लेकर अमेरिका के व्हाइट हाउस में चल रही राजनीति पर चर्चा करने वाले अड़ीबाजों के लिए संकट पैदा हो गया है। शहर की दर्जनों चाय की दुकानों पर सन्नाटा छाया है। शहर की तमाम चाय की अडिय़ों पर चूल्हे ठंडे पड़े हैं।
दरअसल, आसमान से आग बरसाती गर्मी में बनारस में दूध का दाम सेंसेक्स की तरह तेजी से ऊपर चढ़ रहा है। 25-30 रुपये लीटर मिलने वाला दूध बीते एक सप्ताह से 80-90 रुपये लीटर दूध मिल रहा है। गर्मी की तपिश व शादियों का मौसम होने के कारण डिमांड के अनुरूप उत्पादन कम होने के कारण दूध का दाम बेतहाशा भाग रहा है। दूध का दाम तीन गुना अधिक होने के कारण चाय विक्रेताओं के पास फिलहाल दुकान बंद करने के अलावा कोई और विकल्प नहीं है।

मिठाई और शादी के चक्कर में घरेलू ग्राहकों को दिखा रहे ठेंगा

बनारस में दूध का दाम बढऩे के चलते अधिक रुपये कमाने के चक्कर में दूधिए घर-घर दूध सप्लाई करने से आनाकानी कर रहे हैं। दूध न होने का बहाना कर दूधिए मिठाई की दुकानों व शादी वाले घरों में ऊंचे दामों पर आपूर्ति कर रहे हैं। 

बच्चों के गिलास में नहीं दूध 
दूध की आसमान छूती कीमतों व दूधियों की मनमानी के चलते देश के भविष्य यानि नौनिहालों के गिलास में दूध की एक बूंद नहीं है। बच्चों को दूध देने के लिए लोग दूध मंडियों के चक्कर काट रहे हैं लेकिन उन्हें दूध नहीं मिल रहा है।
 
दूध के अन्य उत्पादों का दाम भी उछला

शादी-ब्याह व गर्मी के चलते दूध का संकट होने से दूध से बने अन्य उत्पादों के दाम में भी बेतहाशा वृद्धि हुई है। दो से ढाई सौ रुपये किलो मिलने वाला पनीर इस समय 350 से 400 रुपये किलो बिक रहा है। मलाई 500-550 रुपये, खोवा 180-200 रुपये मिल रहा है।  
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned