विधानसभा चुनाव की सुगबुगाहट, जानिए क्या है मामला

विधानसभा चुनाव की सुगबुगाहट, जानिए क्या है मामला
election review

बनारस पहुंचे उप चुनाव आयुक्त ने की चुनावी तैयारियों की समीक्षा

वाराणसी. उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव साल के अंत में होने की सुगबुगाहट के बीच शनिवार को उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा बनारस पहुंचे। चुनाव कब होंगे, पूछे जाने पर जवाब तो नहीं दिया लेकिन मतदाता सूची से लगायत अन्य तैयारियों की समीक्षा करके यह जता दिया कि साल के अंत या फिर वर्ष 2017 के शुरूआती माह में चुनाव के लिए अधिसूचना जारी हो सकती है।
उप चुनाव आयुक्त सर्किट हाउस में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की। जिला निर्वाचन अधिकारी विजय किरण आनंद को बताया कि शहर में 12 सौ व देहात में 14 सौ मतदाताओं पर एक बूथ बनना है। जिले के सभी मतदान केंद्रों का निरीक्षण कर जो भी जर्जर स्थान हो, उसे दुरूस्त कराएं अन्यथा मतदान केंद्र अन्यत्र की व्यवस्था हो। उप चुनाव आयुक्त का दिव्यांग मतदाताओं को बूथ तक पहुंचने में होने वाली समस्याओं को दूर करने पर विशेष जोर दिया। उप चुनाव आयुक्त ने निर्वाचन अधिकारियों को मतदाता सूची को पुनरीक्षण, दो-दो मतदाता पहचान पत्र वाले मतदाताओं को चिन्हित करने का निर्देश दिया। कहा कि साफ्टवेयर की मदद से मतदाता सूची में सुधार कार्य में तेजी लाए। लाखों पहचान पत्र में गड़बड़ी पाई गई है। महिला को पुरूष बना दिया गया है तो बुजुर्ग को जवान।  
गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर इन दिनों एक संदेश चल रहा है कि भाजपा और सपा वर्ष के अंत में विधानसभा चुनाव कराने की तैयारी कर रही है। नित बनते-बिगड़ते समीकरण के बीच सभी राजनीतिक पार्टियों के अपने-अपने दावे हैं। सोशल मीडिया पर चल रही चुनावी जंग के बीच चर्चाओं को पंख लग गए जब शनिवार को उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा वाराणसी पहुंचे। 
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned