शिवपाल और अखिलेश के घमासान में बंटे सपाई

शिवपाल और अखिलेश के घमासान में बंटे सपाई
mulayam, shivpal and akhilesh

बनारस में शिवपाल के खेमे से जुड़े हैं सिंचाई मंत्री समेत अन्य नेता

वाराणसी. सपा में सियासत के लिए मचे संग्राम की आंच बनारस समेत पूर्वांचल के विभिन्न जिलों तक पहुंच गई है। खास यह कि अखिलेश और शिवपाल यादव से जुड़े मंत्री-विधायक व प्रत्याशी समेत कार्यकर्ताओं के बीच खाई बढ़ गई है। खुफिया तंत्र से लेकर पुलिस तक ने अपना सूचना तंत्र सक्रिय कर दिया है क्योंकि इनके आपस में भिडऩे की आशंका है। 

बात वाराणसी की जाए तो यहां सपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव से जुड़े कई नेता है। सबसे पहला नाम आता है लोक निर्माण व सिंचाई राज्यमंत्री सुरेंद्र सिंह पटेल का। सुरेंद्र पटेल शिवपाल के बेहद करीबी माने जाते हैं। वाराणसी में विधानसभा चुनाव 2017 के लिए घोषित प्रत्याशी रीबू श्रीवास्तव व समद अंसारी भी शिवपाल खेमे से ही जुड़े हैं। वाराणसी में कई ऐसे नेता भी है जो अखिलेश के साथ ही मुलायम सिंह यादव के खेमे से संबंध रखते हैं। इसमे शतरूद्र प्रकाश, मनोज राय धूपचंडी, आशुतोष सिन्हा समेत अन्य सपा नेता शामिल हैं।

सपा में चल रहे गृहयुद्ध के बाबत फिलहाल कोई सपाई बोलने से बच रहा है। मुलायम के परिवार में मचे घमासान से सबसे अधिक बेचैनी उन प्रत्याशियों में है जो कहीं न कहीं शिवपाल व अखिलेश यादव से जुड़े हैं। आने वाले समय में टिकट वितरण की व्यवस्था अखिलेश के पास रहती है तो तय है कि शिवपाल यादव से जुड़े लोगों का टिकट कटेगा और कहीं चाभी शिवपाल के हाथ लगी तो अखिलेश के समर्थकों को झटका लगना तय है। 


अखिलेश व शिवपाल से जुड़े मंत्री-विधायकों से पत्रिका ने फोन पर बात करने की कोशिश की। कुछ ने फोन उठाया तो कुछ ने फोन रिसिव करके सपा में मचे घमासान पर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। समर्थकों को उम्मीद है कि शीघ्र ही तुफान शांत हो जाएगा और सबमिलकर विधानसभा चुनाव में विपक्षियों को मुंहतोड़ जवाब देंगे। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned