सड़क के ठेकेदारों को DM का ULTIMATUM

सड़क के ठेकेदारों को DM का ULTIMATUM
meeting in nagar nigam

सड़क निर्माण में घपलेबाजी हुई  तो काल कोठरी का रास्ता खुला

वाराणसी. काशी को उसकी गरिमा के अनुरूप बनाने की कोशिश में यहाँ के कलेक्टर यानी जिलाधिकारी ने दिन-रात एक कर दिए हैं। वर्षों से कुंद पड़े तमाम सरकारी, गैर सरकारी संगठनों में धार आ गयी है। रविवार को रामनगर में पराग डेयरी केंद्र का निरीक्षण करने के बाद डीएम विजय किरन आनंद ने सड़को एवं गलियों सहित नगर निगम द्वारा कराये जाने वाले निर्माण कार्यो को समयबद्वता एवं गुणवत्ता के साथ कराये जाने के बाबत नगर निगम के सभागार में निगम के अधिकारीयों व ठेकेदारों के साथ बैठक की। डीएम ने ठेकेदारों द्वारा कराये गए कार्यो के गुणवत्ता की औचक जॉच मजिस्ट्रेटो एवं अभियंताओं के संयुक्त टीम से कराये जाने का निर्देश दिया। चेतावनी दी कि कार्यो में कमी एवं अनियमितता मिली, तो ठीकेदार को काली सूची में डालने के साथ ही आजीवन कारावास की आपराधिक धाराओं में मुकदमा कराकर जेल भेजने के अलावा वसूली भी हर हालत में सुनिश्चित कराया जायेगा।
डीएम ने नगर निगम के जेई एवं एई को कड़ी फटकार लगाते हुए कार्यो के दौरान मौके पर मौजूद रहने का निर्देश देते हुए कहॉ कि निर्माण कार्य मात्र ठेकेदारों के भरोसे नही होगा। उन्होने ठीकेदारो की समस्याओं को भी प्राथमिकता दी तथा ठीकेदारो के भुगतान लम्बित न रहने की लेखाधिकारी को हिदायत देते हुए कहॉ कि बिल प्राप्त होने के तीन दिन के अन्दर प्रत्येक दशा में भुगतान कर दिया जाय। ठीकेदारो द्वारा कार्य पूर्ण कराये जाने के पश्चात् सहायक एवं अवर अभियंताओं द्वारा एमबी बनाये जाने में कतिपय विलम्ब होने की जानकारी पर आड़े हाथों लेते हुए जमकर फटकार लगायी तथा विलम्ब का कारण कुछ और होना बताते हुए कहॉ कि इस कार्यप्रणाली से बू बाती है। ठेकेदारों को बिनावजह परेशान न करने की नसीहत देते हुए एमबी बनाने के कार्य को प्रत्येक दशा में एक सप्ताह के अन्दर किये जाने की समयसीमा निर्धारित किया। इसी के साथ ही उन्होने टेण्डर की सार्वजनिक सूचना स्वीकृति के दो दिन के अन्दर जिले से बाहर के अथवा कम/अधिक प्रसार के कागजी अखबारो में न कराकर अधिक प्रसार वाले बड़े अखबारो में ही कराये जाने का निर्देश दिया। टेण्डर स्वीकृत होने के 24 घंटे के अन्दर अनुबंध हर हालत में तैयार कराये जाने पर उन्होने विशेष जोर दिया।

ईमानदारी से करिये काम, मिलेगा ईनाम

जिलाधिकारी ने ठेकेदारों को सम्बोधित करते हुए कहॉ कि नगर निगम द्वारा शहर में लगभग 50 करोउ़ रूपये के 600 कार्य चल रहे है। जिसमें 121 कार्य प्रगति पर है तथा 500 कार्यो के स्वीकृति की प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है। ये कार्य भी शीघ्र ही शुरू हो जायेगें। उन्होने पूरी ईमानदारी, निष्ठा एवं समयबद्वता सहित शासन की मंशा के अनुरूप गुणवत्ता के साथ निर्माण कार्यो को पूरा कराये जाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने ठेकेदारों को हिदायत देते हुए कहॉ कि सड़क एवं गलियों के निर्माण कार्यो की खोदाई करके गुणवत्ता की जॉच होगी। अनियमितता की कोई गुजाइंश नही है। जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्थाओं द्वारा कराये जाने वाले अनडरग्राण्उड कार्यो के लिये सड़को की किये गये खोदाई को 20 जून तक पाटने तथा 30 जून तक सउ़को कर मरम्मत लोक निर्माण विभाग को कराये जाने का भी निर्देश दिया। बैठक में अपर नगर आयुक्त राजेन्द्र सिंह सेंगर, मुख्य अभियंता नगर निगम सहित 66 ठेकेदार  उपस्थित रहे।


खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned