खत्म होंगे कूड़ा घर, अंडर ग्राउंड हो जाएंगे डस्टबिन, खाली प्लाट में कूड़ा फेंकने पर लगेगा जुर्माना

शहर को साफ और स्वच्छ बनाने के लिए यहां से कूड़ा घर बंद कर दिए जाएंगे। रास्ते में जो कूड़ा कंटेनर और डस्टबिन रखे गए हैं उन्हें अंडरग्राउंड कर दिया जाएगा।

By: Karishma Lalwani

Updated: 17 Mar 2021, 01:08 PM IST

वाराणसी. शहर में अब स्वच्छता सर्वेक्षण मानकों के आधार पर होगा। वाराणसी शहर को साफ और स्वच्छ बनाने के लिए यहां से कूड़ा घर बंद कर दिए जाएंगे। रास्ते में जो कूड़ा कंटेनर और डस्टबिन रखे गए हैं उन्हें अंडरग्राउंड कर दिया जाएगा। दरअसल, ऐसी योजना बनाई जा रही है कि नगर में एख भी कचरा न दिखाई दे। वर्तमान में नगर निगम सीमा में करीब 43 कूड़ा घर हैं। इसके अलावा खाली प्लाटों में भी कूड़ा फेंका जाता है। योजना के तहत पूरे शहर में घर-घर कूड़ा उठाना होगा जिससे कि कहीं भी कूड़ा फेंका नजर नहीं आएगा। अगर कोई ऐसा करेगा तो जुर्माने की कार्रवाई की जाएगी।

इस तरह होगा काम

महाशिवरात्रि, होली आदि पर्व पर हर साल लाखों की संख्या में लोग वाराणसी आते हैं। इनमें प्रदेश के लोगों के साथ-साथ विदेशी भी शामिल हैं। ऐसे में बाहर से आने वाले सैलानियों की संख्या के कारण स्वच्छता मिशन बड़ी चुनौती बन जाती है। एक दर्जन से अधिक परियोजनाओं का निर्माण, मुकम्मल सीवर लाइनें आदि न होना गंदगी से जंग में बड़ी बाधा है। ऐसे में नगर में ठोस कचरा का स्मार्ट प्रबंधन हो रहा है। इसमें स्मार्ट सिटी योजना से जुड़े कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से कचरा घरों को जोड़ दिया जाएगा। सड़क किनारे बने सार्वजनिक शौचालय, सड़क किनारे रखे गए कंटेनर आदि भी सेंटर से जोड़े गए हैं। सबी जगह से कूड़ा उठाकर नियमित रिपोर्ट तैयार की जाएगी।
नगर निगम मुख्यालय में स्वच्छता वॉर रूम भी बना है जहां से प्रबंधन की मुकम्मल निगरानी हो रही है।

ये भी पढ़ें: यूपी अब खुले में शौच मुक्त, सीएम योगी ने दिया एक और तोहफा

ये भी पढ़ें: स्वच्छता के लिए अपने आचरण और व्यवहार में बदलाव की जरूरत : वित्त मंत्री

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned