लैंगिक समानता को कानून से ज्यादा शिक्षा और शिक्षक की है जिम्मेदारी

आदर्श ग्राम नागेपुर में लैंगिक भेदभाव के खिलाफ कार्यशाला
सोच बदलने से दूर होगा लैंगिक भेदभाव: प्रो संजय

By: Ajay Chaturvedi

Published: 05 Sep 2019, 04:53 PM IST

मिर्जामुराद/वाराणसी. महिलाओं के सशक्तीकरण व समाज में लैंगिक समता के लिए कानूनी प्रावधानों का सही प्रकार से क्रियान्वयन होना जरुरी है। समाज में लैंगिक भेदभाव दूर करने के लिए सामाजिक चेतना जगानी होगी। इस संदर्भ में शिक्षकों की विशेष भूमिका है। ये कहना है महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ समाजकार्य विभाग के अध्यक्ष प्रो. संजय का। वे शिक्षक दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम नागेपुर के लोक समिति आश्रम में गुरुवार को लोक समिति ग्राम्या संस्थान, एशियन ब्रीज इंडिया तथा ग्रामीण पुनर्निर्माण संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में 'लिंग भेदभाव को मिटाने में शिक्षकों की भूमिका' विषयक कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।

बतौर मुख्य वक्ता प्रो.संजय ने अपने व्याख्यान में नुक्कड़ नाटकों, वॉल मैगजीन, परिसंवाद, संवाद गोष्ठियों के जरिए महिलाओं को जागृत करने की सलाह दी। कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए खंड शिक्षा अधिकारी स्कंद गुप्ता ने समाज में महिलाओं के अधिकार सुनिश्चित करने की बात रखी। उन्होंने कहा कि महिलाओं को समाज में सम्मानजनक जीवन जीने के दृष्टिकोण से सामाजिक जागृति जरूरी है। कार्यशाला के प्रारम्भ में ग्रामीण पुनर्निर्माण के निदेशक राजदेव ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि समाज में महिलाओं का बराबर का दर्जा होना चाहिए। बेहतर समाज के लिए महिलाओं-पुरूषों को मिलकर कार्य करना होगा। ग्राम्य संस्थान की निदेशक बिंदू सिंह ने कहा कि शिक्षकों को लिंग भेद मिटाने में विशेष भूमिका निभानी होगी और स्कूल परिसर को महिला सशक्तिकरण का जीवंत केन्द्र बनना होगा।

 आदर्श ग्राम नागेपुर में लैंगिक भेदभाव के खिलाफ कार्यशाला

कार्यशाला में शामिल अतिथियों और शिक्षकों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन लोक समिति संयोजक नंदलाल मास्टर ने किया। इस अवसर पर ग्रामप्रधान पारसनाथ गुलाम अली, आशीष, रणविजय, स्वाति सिंह, फौजिया सरिता, अनीता सोनी, रामबचन, संतोष मास्टर, रामबली, श्यामसुंदर ओमप्रकाश वर्मा, विनोद, योगमाया, रंजू मिश्रा, राजदेव, रमेश दुबे, राधारानी, ज्योति, अमित, पंचमुखी, सुनील, विद्या, सीमा, समाबानो, जैनुलादिन, विनीता, सुमन आदि मौजूद रहे।

 आदर्श ग्राम नागेपुर में लैंगिक भेदभाव के खिलाफ कार्यशाला
IMAGE CREDIT: patrika
Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned