scriptEstablishment of new Museology Department in BHU | संग्रहालय विज्ञान विभाग वाले देश के चुनिंदा शिक्षण संस्थानों में शामिल हुआ BHU, अंतर्विषयी व पेशेवर पाठ्यक्रम में शिक्षण व शोध में आएगी तेज़ी | Patrika News

संग्रहालय विज्ञान विभाग वाले देश के चुनिंदा शिक्षण संस्थानों में शामिल हुआ BHU, अंतर्विषयी व पेशेवर पाठ्यक्रम में शिक्षण व शोध में आएगी तेज़ी

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में अब संग्रहालय विज्ञान के रूप में नए विभाग की स्थापना की गई है। विश्वविद्यालय के विजिटर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की रजामंदी के बाद इस विभाग के लिए परिनियम में संशोधन कर नए विभाग की स्थापना की गई है। बता दें कि इस तरह से बीएचयू देश के चुनिंदा विश्वविद्यालयों में शामिल हो गया है जहां संग्रहालय विज्ञान के रूप में पृथक विभाग संचालित हो रहा है।

वाराणसी

Updated: June 19, 2022 02:56:17 pm

वाराणसी. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) देश के उन चुनिंदा शिक्षण संस्थानों में शामिल हो गया है, जहां संग्रहालय विज्ञान पर एक अलग विभाग संचालित होगा। अब तक संग्रहालय विज्ञान विश्वविद्यालय के कला संकाय स्थित प्राचीन भारतीय इतिहास, संस्कृति व पुरातत्व विभाग में एक अनुभाग के तौर पर संचालित हो रहा था। बीएचयू के विज़िटर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मंज़ूरी तथा विश्वविद्यालय के परिनियमों में आवश्यक संशोधन के पश्चात् नए विभाग की स्थापना के बारे में बीएचयू ने आधिकारिक अधिसूचना जारी कर दी है। इस नए विभाग के अस्तित्व में आने से अब कला संकाय, जिसे मातृ संकाय के नाम से भी जाना जाता है, के विभागों की संख्या 21 से बढ़कर 22 हो गई है।
बीएचयू में अब संग्रहालय विज्ञान के रूप में नया विभाग
बीएचयू में अब संग्रहालय विज्ञान के रूप में नया विभाग
संग्रहालय विज्ञान, एक अंतर्विषयी पाठ्यक्रम

संग्रहालय विज्ञान एक अंतर्विषयी पाठ्यक्रम है, जिसके पेशेवरों व विशेषज्ञों की मांग में इज़ाफा देखने को मिल रहा है। ऐसे में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में इस नए विभाग की स्थापना काफी महत्वपूर्ण है। भारत में 1000 से अधिक संग्रहालय हैं और भविष्य में कई अन्य संग्रहालय भी आरंभ होने वाले हैं। ऐसे में बीएचयू इस दिशा में अहम भूमिका निभाने को तैयार है, क्योंकि अन्य विषयों की भांति बीएचयू इस क्षेत्र में भी कुशल पेशवर तैयार करेगा। फिलहाल भारत के चुनिंदा शिक्षण संस्थानों में ही संग्रहालय विज्ञान के लिए पृथक विभाग संचालित हो रहे हैं, जहां इस से संबंधित पाठ्यक्रम चल रहे हैं। इन संस्थानों में राष्ट्रीय संग्रहालय संस्थान (विश्वविद्यालयवत् का दर्जा प्राप्त – Deemed to be university), नई दिल्ली, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश), महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय, वडोदरा (गुजरात), इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय, अमरकंटक (मध्य प्रदेश), तथा कलकत्ता विश्वविद्यालय, कोलकाता (पश्चिम बंगाल), प्रमुख रूप से शामिल हैं।
बीएचयू में संग्रहालय विज्ञान विषय की पढ़ाई वर्ष 1968 से

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में संग्रहालय विज्ञान में स्नातकोत्तर, डॉक्टोरल तथा पोस्टडॉक्टोरल अध्ययन के लिए विद्यार्थी आते हैं। बीएचयू में संग्रहालय विज्ञान विषय की पढ़ाई वर्ष 1968 से जारी है, जब भारत कला भवन के अंतर्गत पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा आरंभ किया गया था। इस पाठ्यक्रम को 1979 में एम. ए. डिग्री के रूप में परिवर्तित किया गया था। साल 2006 में संग्रहालय विज्ञान अनुभाग को प्राचीन भारतीय इतिहास, संस्कृति व पुरातत्व विभाग का भाग बना दिया गया था। फिलहाल स्नातकोत्तर डिग्री पाठ्यक्रम में 15 सीटें हैं, जिनमें से 2 पेड सीटें हैं।
संग्रहालय विज्ञान से रोजगार के कई अवसर

संग्रहालय विज्ञान की आचार्य प्रो. उषा रानी तिवारी इस विषय में पिछले 20 वर्षों से अध्यापन कर रही हैं। उन्होंने बताया कि इस विषय में शिक्षा प्राप्त करने के बाद विद्यार्थियों के समक्ष संग्रहालय निदेशक, कॉन्ज़रवेटर तथा सहायक आचार्य समेत अन्य कई पदों पर रोज़गार के अवसर उपलब्ध हैं। प्रो. उषा रानी तिवारी ने कहा कि नया विभाग शुरू होना काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के लिए अत्यंत गर्व का विषय है और इससे विश्वविद्यालय की प्रतिष्ठा व प्रसिद्धि में और वृद्धि होगी।
शिक्षकों ने जताई प्रसन्नता
कला संकाय प्रमुख प्रो. विजय बहादुर सिंह ने संग्रहालय विज्ञान विभाग स्थापित होने पर खुशी जताई है। प्रो. सुमन जैन, विभागाध्यक्ष, प्राचीन भारतीय इतिहास, संस्कृति व पुरातत्व विभाग, ने भी नए विभाग की स्थापना पर प्रसन्नता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि नया विभाग राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विश्वविद्यालय की ख्याति को और बढ़ाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.