Pravasi Bharatiya Sammelan-2019- प्रवासी शहर तैयार मिलेगी हर नागरिक सुविधा

24 क्लस्टर में तीन तरह के टेंट। काशी विला- सबसे आलीशान, फैमिली के लिए त्रिवेणी कॉटेज।

By: Ajay Chaturvedi

Published: 19 Jan 2019, 03:45 PM IST

वाराणसी. प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए काशी में प्रवासी शहर। ऐसा शहर कि वह भले हो शामियाने का पर है स्वप्न सरीखा। महज 42 एकड़ में फैले इस शहर में अब सबकुछ लकदक, सारी सुविधाओं से लैश। जमीन पर एक तिनका भी नजर नहीं आएगा। बिल्कुल ग्रीन टॉप सर्फेस।

प्रवासी भारतीयों की मेहमानवाजी के लिए काशी पूरी तरह से तैयार हो चुकी है, तन से, मन से तैयार हो चुकी है। मेहमानों के लिए जो शहर बनाया गया है उसमें हर वो मुकम्मल सुविधा है जो आम नागरिक को मिलनी चाहिए। यहां अस्पताल है तो पुलिस चौकी और पुलिस थाना भी है। स्मोकिंग के शौकीनों के लिए अलग से स्मोकिंग जोन है तो सेहत बनाने के लिए जिम भी है। रिहायशी कॉटेज ऐसे कि हर किसी का दिल बागबाग हो जाए। चाहे आप अकेले आ रहे हों या परिवार के साथ, सभी के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। हर क्लस्टर में भारत और काशी की खासियत, यहां की पहचान मौजूद है। यहां सारनाथ का स्तूप है तो अशोक स्तंभ भी है। प्रमुख घाट की होर्डिंग लगी है तो अशोक चक्र और चौखंडी स्तूप भी नजर आ रहा है।

तीन तरह की कालोनी

काशी विला- सबसे आलीशान टेंट काशी विला है। दो क्लस्टर में बने इस विला में कुल 50 टेंट हैं।

सरस्वती कॉटेज - इस डिलक्स स्विस कॉटेज में 4500 टेंट हैं। इसे 15 क्लस्टर में बांटा गया है।

त्रिवेणी कॉटेज - फेमिली कॉटेज के रूप में है त्रिवेणी कॉटेज। ये परिवार के रहने के लिए है। चार बेड वाले इस टेंट को सात अलग-अलग क्लस्टर में बांटा गया है।

तीन तरह के डाइनिंग हाल
काशी विला, सरस्वती स्विस कॉटेज और त्रिवेणी कॉटेज के लिए अलग-अलग तीन जगहों पर डाइनिंग हाल हैं। काशी विला और सरस्वती स्विस कॉटेज में ठहरे मेहमानों का डाइनिंग हाल आसपास है। टेंट सिटी के पूर्वी छोर पर स्थित त्रिवेणी कॉटेज के लिए वहीं पास में डाइनिंग हाल है। इन डाइनिंग हाल में सुबह का नाश्ता दिया जायेगा।

दो रसाई घर
टेंट सिटी में दो रसोई घर हैं। एक काशी विला और सरस्वती स्विस कॉटेज के डाइनिंग हाल के समीप, दूसरा त्रिवेणी कॉटेज के डाइनिंग हाल के पास बनाया गया है।

08 बेड का अस्पताल
इस प्रवासी शहर में 08 बेड का अस्थायी अस्पताल है। जरूरी दवाएं मंगा ली गई है। इसके पास ही है स्पा लाउंजय़।

जिम
जिम की भी व्यवस्था है जिसे विभिन्न व्यायाम उपकरण से लैश कर दिया गया है। डॉ संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम के जिम से सारे नए उपकरण यहां ले आए गए हैं।

03 स्मोकिंग जोन

इस शहर में तीन स्मोकिंग जोन हैं। इनमें प्रवासी मेहमान धूम्रपान कर सकेंगे। यहां धूम्रपान पात्र के अलावा धुआं बाहर निकल सके, इसके लिए खास इंतजाम किए गए हैं।

नहीं होगी नगदी की कमी, दो एटीएम भी

काशी विला और स्टाल के लिए लगे पंडाल के पास दो एटीएम लगाए गए हैं।

रिसेप्शन और लगेज लाउंज

प्रवासी शहर में प्रवेश करते ही चंद कदमों पर रिसेप्शन मिलेगा। यहां पूरी जानकारी के लिए पांच काउंटर हैं। इसके पहले जहां स्टाल लगाए जाएंगे, उसके पास ही लगेज लाउंज होगा। यहां प्रवासी मेहमान अपना लगेज सुरक्षित रख सकेंगे।


पुलिस थाना और कंट्रोल रूम

टेंट सिटी के बीच में अस्थायी थाना बनाया गया है। वहीं कंट्रोल रूम तैयार कर लिया गया है, जहां से अभी से निगरानी शुरू कर दी गई है।

पार्किंग जोन

टेंट सिटी में रिंग रोड से प्रवेश करते बाएं तरफ पार्किंग होगी। वहां बसें खड़ी की जाएंगी। बसों की पार्किंग की व्यवस्था टेंट सिटी के पूर्वी छोर पर त्रिवेणी कॉटेज के पास भी की गई है।

जगह-जगह लगा है मैप

टेंट सिटी में जगह-जगह मैप लगा दिया गया है। मैप में पूरी सिटी को दर्शाया गया है कि किस तरफ कौन सा टेंट है। कौन सा टेंट नंबर किस क्लस्टर में है। कहां पर डाइनिंग हाल है, कहां स्पा है। हास्पिटल, जिम खाना से लेकर सारे लोकेशन उसपर अंकित हैं।

 

 

migrant city
Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned