BHU: प्रशासनिक हस्तक्षेप के बाद हरकत में आया विश्वविद्यालय प्रशासन, की ये कार्रवाई

BHU: प्रशासनिक हस्तक्षेप के बाद हरकत में आया विश्वविद्यालय प्रशासन, की ये कार्रवाई

Ajay Chaturvedi | Publish: May, 11 2018 02:18:12 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

चीफ प्रॉक्टर की तहरीर पर नौ छात्रों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा।

वाराणसी. बीएचयू में अब सब कुछ आधी रात के बाद घटित होने लगा है। आधी रात के बाद हिंसा, आधी रात के बाद हिंसक छात्रों पर कार्रवाई। गत मंगल व बुधवार को आधी रात के बाद हुए बवाल के मामले में गुरुवार को आधी रात के बाद नौ आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया। इसकी पुष्टि लंका एसओ संजीव मिश्र ने की। पत्रिका से बातचीत में उन्होंने बताया कि जिन छात्रों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ है उनकी गिरफ्तारी के लिए तलाशी भी शुरू कर दी गई है। जल्दी सभी आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ जाएंगे। बता दें कि मंगलवार व बुधवार की रात की घटना में लंका एसओ मिश्र भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

माना जा रहा है कि बुधवार को डीएम, एसएसपी की सलाह के बाद बीएचयू प्रशासन हरकत में आया और दो दिन बाद मंगलवार-बुधवार की रात की घटना के मामले में चीफ प्रॉक्टर प्रो. रोयाना सिंह ने गुरुवार देर शाम नौ छात्रों के विरुद्ध लंका थाने में तहरीर दी जिसके बिना पर पुलिस ने सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। एसओ लंका संजीव मिश्र के अनुसार, चीफ प्रॉक्टर की तहरीर के मुताबिक बिड़ला ए के छात्र दर्शित पांडेय, अविनाश राय, हर्षवर्धन सिंह, ऋषभ सिंह तथा लाल बहादुर शास्त्री छात्रावास के राजन सिंह, अतुल जायसवाल, समीर सिंह और आशुतोष मौर्य के खिलाफ मारपीट, बलवा आदि मामलों में मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि इनकी गिरफ्तारी के लिए दो टीम भी गठित कर दी गई है।

उधर घटना के चार दिन बाद भी विश्वविद्यालय परिसर में तनाव बना हुआ है। एहतियात के तौर पर छात्रावासों के इर्द-गिर्त पुलिस व पीएसी तैनात है। इस पूरे प्रकरण में विश्वविद्यालय प्रशासन चाहे जो दावा करे लेकिन सूत्र बताते हैं कि दोनों ही छात्रावास में रहने वाले अभी पूरी तरह से शांत नहीं हैं। उनके अंदर अभी आग धधक रही है। वो फिर से मौके की तलाश में हैं। इस बीच प्रशासन की पहल पर बवाल करने वाले छात्रों को चिह्नित कर उनके परिजनों को पत्र भेज कर बुलाने और बातचीत करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned