पूर्वी यूपी में भारी बारिश, सोनभद्र मिर्जापुर के सैकड़ों गाँव बने काला पानी  

पूर्वांचल में भारी बारिश से सोनभद्र मिर्जापुर के सैकड़ों गाँव बने काला पानी  

By: Awesh Tiwary

Published: 07 Jul 2017, 03:18 PM IST

वाराणसी।  पूर्वी उत्तर प्रदेश में लगातार हो रही बरसात से सोनभद्र और मिर्जापुर जिलों में हालात बेहद खराब हो  गए हैं। दोनों जिलों के तक़रीबन 250 गाँवों का शेष उत्तर प्रदेश से संपर्क पूरी तरह से कट गया है ।  विध्याचल में एक ही परिवार के पांच सदस्य देर रात आई बारिश में बह गए हैं ,इनमे से तीन के शव बरामद हो गए हैं । दोनों ही जिलों में गत 24 घंटे से लगातार हो रही मूसलधार बारिश ने क्षेत्र की नदियों और नालों में उफान ला दिया है। मिर्जापुर में जहाँ शिवसागर बाँध का एक लम्बा हिस्सा और मलुआ बंधी टूट गयी है वही सोनभद्र में रेणुका की प्रमुख नदी विजुल सहित दो दर्जन से ज्यादा नालों में आई बाढ़ ने पूरे इलाके को काले पानी में तब्दील कर दिया है।  ]

मिर्जापुर में भारी तबाही 
मिर्जापुर में 24 घंटे से हो रही मूसलधार बारिश से पटेहरा विकास खंड में  शिवसागर बांध व मलुआ बंधी टूट गई जिसके कारण दर्जनों गाँवों और सैकड़ों टोलों में हालात बेहद खराब हो गए हैं।  पहाड़ी नदियों में उफान आने से  भारी संख्या में ग्रामीण जंगलों में ही फसे हुए हैं ।म्रिजापुर में सबसे ज्यादा तबाही पटेहरा में हुई है जहाँ दो दिनों से लगातार बारिश हो रही है  ।  पूरे इलाके में इस बारिश से भारी संख्या में कच्चे मकान भी क्षतिग्रस्त हुए हैं पटेहरा कला के बहरछठ टोला बांध की पुलिया टूट गई है। इससे बस्ती में पानी घुस गया। मिर्जापुर के जिलाधिकारी  बिमल कुमार दुबे व एसपी आशीष तिवारी राहत लगातार राहत कार्य में जुटे है । 

पेड़ पर गुजर रही ग्रामीणों की रातें 
मिर्जापुर के  कुसियरा नदी में आई बाढ़ से लेहड़िया व पटखौली गांव में कई लोगों ने पेड़ पर चढ़ कर रात गुजारी। लोग गुरुवार को भी पेड़ पर फंसे हुए हैं । लेकिन हालात  यह है कि तमाम कोशिशों के बावजूद अधिकारी मौके पर नहीं पहुँच पा रहे हैं। उधर मिर्जापुर के ही जिगना में कर्णावती नदी की बाढ़ ने भारी तबाही मचाई  है। कर्णावती नदी का पानी कुशहा में पुल के ऊपर से बह रहा है। बाढ़ से भटेवरा, बिजयपुर, कठवइया, बौडई, कुशहां में बने पुलों पर पानी भर जाने से आवागमन अवरुद्ध हो गया है। तटवर्ती गांव बनवारीपुर,बरबटा, कामापुर,सदलुपुर, बुढियापुरबिजयपुर, डेरवा, पियरी भिट, बौड़ई, बघेड़ा खुर्द, का सम्पर्क जिला मुख्यालय से टूट गया है।

सोनभद्र में बिजुल का कहर 

सोनभद्र में भारी बारिश की वजह से कई बंधियों के टूटने की खबर  हैं सोनभद्र के घोरावल ब्लाक के मुसहां गाँव में बंधी टूटने से पानी गाँव में घुस आया है। उधर  लगातार हो रही बारिश के कारण विजुल नदी पर गायघाट में बने पुल के ऊपर से पानी बह रहा है। गुरुवार की शाम तक पुल के आठ फीट ऊपर से पानी चल रहा था जिसके कारण सैकड़ों गांवों का संपर्क मुख्य धारा से कट गया है। उधर  के नालों की स्थिति भी खतरनाक हो गयी है। फफराकुण्ड रेलवे स्टेशन के पास बहने वाले चालाकी नाले के उफान से रेणुकापार के दक्षिणी हिस्से को जोड़ने वाला वैकल्पिक मार्ग पूरी तरह डूब गया है। जिसके कारण पनारी के फफराकुण्ड, कर्री, जुर्रा, करमसार, बकिया, भोड़ार, धनबहवा, अमरस्त्रोता, खाडर, खैराही सहित दो दर्जन से ज्यादा टोलों का चारपहिया से संपर्क पूरी तरह टूट गया है। विजुल नदी के रौद्र रूप धारण करने के कारण कनहरा ग्राम पंचायत के दर्जनों टोले पूरी तरह मुख्य धारा से कट गये हैं। आलम यह है कि बरसात के कारण दर्जनों नालों के रपटों और छलको पर पानी चल रहा है।  सैकड़ों टोलों से आवागमन पूरी तरह से ठप्प हो गया  है।सोनभद्र के अधिकाँश इलाकों में हालात यह है कि तमाम आपातकालीन सेवाएँ भी पूरी तरह ठप्प हो गई है । जनपद के ओबरा में  लोहिया कुण्ड नाले में पानी आने से ओबरा गांव का संपर्क ओबरा से कई घंटों तक कटा रहा। 
Awesh Tiwary Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned