scriptFlood in UP 24 districts Ghats and houses in Varanasi submerged | काशी में जल प्रलय, मंदिर डूबे, श्मशान डूबे, देखते-देखते जलमग्न हो गया मकान | Patrika News

काशी में जल प्रलय, मंदिर डूबे, श्मशान डूबे, देखते-देखते जलमग्न हो गया मकान

उत्तर प्रदेश को करीब दो दर्जन जिलों के एक हजार से ज्यादा गांवों में जल प्रलय (Flood in UP) देखने को मिल रहा है। बाढ़ का कहर बढ़ता जा रहा है।

वाराणसी

Updated: August 13, 2021 05:22:31 pm

लखनऊ. उत्तर प्रदेश को करीब दो दर्जन जिलों के एक हजार से ज्यादा गांवों में जल प्रलय (Flood in UP) देखने को मिल रहा है। बाढ़ का कहर बढ़ता जा रहा है। सबसे ज्यादा प्रभावित पूर्वी यूपी के जिले हैं। यहां काशी के कई इलाकों में क्या मंदिर, क्या श्मशान, क्या मकान, सब जलमग्न हो गए हैं। लोगों को श्मशान घाटों के छत पर अंतिम संस्कार करना पड़ रहा है। कमोबेश यही स्थिति पूर्वी यूपी के अन्य जिलों में बनी हुई है।
Flood in Varanasi
Flood in Varanasi
जायजा लेने के लिए खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) गोरखपुर मंडल के दौरे पर हैं। बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने का काम खुद उन्होंने अपने हाथों में ले लिया है। गुरुवार को वाराणसी तो शुक्रवार को उन्होंने गाजीपुर-बलिया के बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों को हवाई सर्वेक्षण किया व खुद बाढ़ पीड़ितों से मिल उन्हें मदद पहुंचाई। संकट के बीच मौसम विभाग का अनुमान है कि 15 अगस्त पूर्वी यूपी के कई हिस्सों में भारी बारिश होगी।
ये भी पढ़ें- Flood in UP: पूर्वांचल में बाढ़ से करीब 750 गांव डूबे, गंगा समेत नदियां मचा रहीं तबाही, पलायन जारी

मणिकर्णिका घाट जलमग्न-
वाराणसी में घाटों की स्थिति भयावह है। लोकप्रिय मणिकर्णिका घाट व हरिश्चंद्र घाट पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं। जगह न मिल पाने के कारण लोगों को अंतिम संस्कार घाट की छतों पर करना पड़ रहा है। गंगा नदी के कहर ऐसा है कि डीह बाबा मंदिर, खाकी बाबा कुटी तक कटान का खतरा बढ़ता नजर आ रहा है। नगर की ऐतिहासिक धरोहरें जैसे, भारत माता मंदिर, मुक्तिधाम, दुर्गा मंदिर, खाकी बाबा की कुटी, हनुमान मंदिर, लोक निर्माण का डाक बंगला, डीह बाबा का स्थान, शाही मस्जिद अभी भी खतरे की जद में हैं।
ये भी पढ़ें- Flood in Varanasi: नाव पर सवार होकर सीएम योगी ने लिया बाढ़ का जायजा

कई मकान डूबे-
पूर्वांचल में गंगा, घाघरा समेत कई नदियां उफान पर हैं। इससे कई जिलों में तबाही मच गई है। वाराणसी, मिर्जापुर, बलिया, गाजीपुर, प्रयागराज, चंदौली, वाराणसी सहित कई शहरों में यह नदियां खतरे के निशान से ऊपर है। बाढ़ का पानी घराें तक पहुंच गया है। गंगा किनारे बसे कई गांवों में कच्चे मकान नदी की चपेट में आ गए हैं। पक्के घरों में भी एक मंजिल तक पानी भर चुका है। लोगों को राहत शिविर में शरण लेने की नौबत आ गई है। एक पूरा मकान तो नदी में बहता हुआ नजर आया, जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वीडियो वायरल हो रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

यूएई के अबू धाबी एयरपोर्ट पर बड़ा हमला, दो भारतीयों समेत तीन की मौतवैक्सीनेशन को लेकर बड़ा ऐलान, 12 से 14 साल तक के बच्चों को मार्च से लगेंगे टीकेPunjab Election 2022: पंजाब में चुनाव की तारीख टली, अब 20 फरवरी को होगी वोटिंग'किसी को जबरदस्ती नहीं लगाई कोरोना वैक्सीन ', केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में बतायाचुनाव आयोग का बड़ा फैसला, पत्रकारों सहित इन लोगों को मिलेगी पाँच राज्यों के चुनावों में पोस्टल बैलेट की सुविधाआखिर क्या है दलबदल कानून और क्यों पड़ी इसकी जरूरत, जानिए सब कुछCovid-19 से मरने वालों को पारसी तरीके से अंतिम संस्‍कार की अनुमति फिलहाल नहींNew Mahindra Scorpio से लेकर Brezza तक, बाजार में जल्द लॉन्च होंगी ये दमदार गाड़ियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.