scriptFoolproof arrangement to save children from corona tested preparation with mock drill | कोरोना से बच्चों को बचाने का फुलप्रूफ इंतजाम, मॉक ड्रिल से परखी तैयारी | Patrika News

कोरोना से बच्चों को बचाने का फुलप्रूफ इंतजाम, मॉक ड्रिल से परखी तैयारी

वैसे राष्ट्रीय पैमाने पर हो या यूपी अथवा वाराणसी, कोरोना संक्रमण नाम मात्र को ही रह गया है। सरकार के स्तर से सारी पाबंदियां हटा ली गई हैं। लेकिन अंतर्राष्ट्रीय पैमाने पर कोरोना के फैलते संक्रमण के मद्देनजर एहतियाती तौर पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। वाराणसी में सोमवार को इन तैयारियों को मॉक ड्रिल के जरिए परखा गया।

वाराणसी

Published: March 28, 2022 09:12:08 pm

वाराणसी. देश-प्रदेश या वाराणसी में कोरोना संक्रमण भले ही नाम मात्र का रह गया हो, पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना संक्रमण तेजी से पांव पसार रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी कोरोना से सतर्क रहने की एडवाइजरी जारी की है। केंद्र सरकार की ओर से भी राज्यो को एहतियात बरतने को कहा गया है। ऐसे में वाराणसी में सोमवार को मॉक ड्रिल से कोरोना से बचाव की तैयारियों को परखा गया। वो भी एक बच्चों संग। वैसे बता दें कि वाराणसी में आज की तिथि में 3 कोरोना पॉजिटिव हैं।
कोरोना से बचाव का मॉक ड्रिल
कोरोना से बचाव का मॉक ड्रिल
कोरोना से बचाव का मॉक ड्रिलबीएचयू, जिला अस्पताल, 6 सीएचसी पर हुआ मॉक ड्रिल

ये मॉक ड्रिल जिले के छह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों (सीएचसी) सहित बीएचयू मेडिकल कालेज, पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय में किया गया। इस क्रम में पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय में महानिदेशालय चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा लखनऊ के स्तर से नामित संयुक्त निदेशक डॉ एमपी सिंह ने चिकित्सा अधीक्षक डॉ आरके सिंह की उपस्थिति में कोविड संक्रमण के प्रबंधन की तैयारियों का हाल जाना और सम्पूर्ण पूर्वाभ्यास का निरीक्षण किया।
कोरोना से बचाव का मॉक ड्रिलपुख्ता मिली तैयारी

संक्रमण के प्रबंधन की तैयारियां कितनी पुख्ता है, इसका जायजा लेने के लिए ग्रामीण क्षेत्र के एक डमी व्यक्ति ने 108 नंबर पर फोन कर बताया कि उसके बच्चे को सांस लेने में परेशानी हो रही है और वह चल भी नहीं पा रहा। सूचना के 13 मिनट के भीतर ही एंबुलेंस उस व्यक्ति के बताए पते पर पहुंची और बच्चे को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चोलापुर पहुंचाया। बच्चे में कोविड-19 के लक्षण दिखते ही उसे फौरन कोविड के लिए एल-1 चिन्हित अस्पताल में रेफर कर दिया गया, जहां फौरन उसका उपचार शुरू हो गया।
ठीक इसी तरह पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय में एक डमी कोविड संक्रमित बच्चे को एंबुलेंस से उसके अभिभावक के जरिए डॉक्टर के पास लाया गया। कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार चिकित्सा कर्मियों के जरिए उस बच्चे की जांच कर आईसीयू बेड तक ले जाया गया। इस दौरान चिकित्सक एवं चिकित्सा कर्मियों ने इलाज के समस्त मानकों का अनुपालन किया।
कोरोना से बचाव की तैयारियांचिकित्सा इकाईयों में कोविड संक्रमण के प्रबंधन की तैयारियों व अन्य किए जाने वाले सुधारात्मक कार्यों को चिन्हित किया

फुल रिहर्सल में कोविड-19 प्रबंधन की तैयारियों, चिकित्सकों एवं चिकित्सा कर्मियों की तैयारियों, दवाओं एवं उपकरणों की क्रियाशीलता को परखा गया। जिले की कोविड-19 केयर चिकित्सा इकाईयों में कोविड संक्रमण के प्रबंधन की तैयारियों व अन्य किए जाने वाले सुधारात्मक कार्यों को चिन्हित किया गया। इस फुल रिहर्सल से प्रशिक्षित किए गए चिकित्साकर्मी तैयारियों के बारे में गहनता से जान सके। इस दौरान अन्य बाल रोग विशेषज्ञ चिकित्सकों के द्वारा सहयोग किया गया एवं मौके पर ही कमियों को दूर किया गया।
सारी तैयारी है पूरीः सीएमओ

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप चौधरी ने बताया कि जिले के छह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, क्रमशः सीएचसी चोलापुर, सीएचसी अराजीलाइन, सीएचसी नरपतपुर, सीएचसी गंगापुर पिंडरा सीएचसी हाथी बाजार, सीएचसी मिसिरपुर पर आक्सीजन युक्त 30-30 बेड एवं दो-दो आईसीयू बेड तैयार किए गए हैं। इसी प्रकार दीनदयाल में पीडियाट्रिक के आक्सीजन युक्त 64 बेड तैयार किए गए हैं जिसमें 20 आईसीयू के बेड तैयार हैं। इसी प्रकार बीएचयू मेडिकल कालेज में कोविड के आक्सीजन युक्त पीडियाट्रिक व आईसीयू बेड तैयार किए गए हैं।
डॉ चौधरी ने बताया कि सीएचसी चोलापुर में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एसएस कनौजिया, सीएचसी अराजीलाइन में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजेश प्रसाद, सीएचसी नरपतपुर में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एके मौर्य एवं सीएचसी गंगापुर में वरिष्ठ परामर्शदाता डा. अनिल कुमार, सीएचसी मिसिरपुर में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संजय राय एवं हाथी बाजार में उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुरेश सिंह ने फुल रिहर्सल का निरीक्षण किया। बीएचयू मेडिकल कालेज में डबल्यूएचओ एसएमओ डॉ जयशीलन की देखरेख में फुल रिहर्सल का कार्य सम्पन्न किया गया तथा अन्य बालरोग विशेषज्ञों ने सहयोग किया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने मॉकड्रिल के सफलतापूर्वक संचालन के लिए सभी चिकित्सक एवं चिकित्साकर्मियों की प्रसंशा की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

नेपाल: चार भारतीय सहित 19 यात्रियों को ले जा रहा एयरक्रॉप्ट हुआ लापता, हादसे की आशंकाUniform Civil Code: मोदी सरकार का अगला एजेंडा है समान नागरिक संहिता, उत्तरखंड से शुरुआत, राज्यों में मंथनआज केरल में दस्तक दे सकता है मानसून, यूपी-बिहार सहित कई जगह बारिश का अलर्टभारत और बांग्लादेश के बीच 2 साल बाद फिर शुरू हुई ट्रेन, कोलकाता से हुई रवानाब्राजील में लैंडस्लाइड और बाढ़ से 31 की मौत, हजारों लोग हुए बेघरIPL 2022 के समापन समारोह में Ranveer Singh और AR Rahman बिखेरेंगे जलवा, जानिए क्या कुछ खास होगाArmy Recruitment Change: 'टूअर ऑफ ड्यूटी' के तहत 4 साल के लिए होंगी भर्तियां, फिर 25% युवाओं का पूर्ण चयनRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.