पलक भर में उजड़ गया हंसता खेलता परिवार, अधिकारी समेत चार की मौत

जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही है बेटी

By: Sunil Yadav

Published: 10 Mar 2019, 02:59 PM IST

वाराणसी. जयपुर से परिवार के साथ लौट रहे जिले के शिवपुर निवासी सांख्यिकी अधिकारी अरुण सिन्हा की कार शनिवार सुबह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर खड़े एक डम्फर में जा घुसी। हादसे में सिन्हा समेत उनकी पत्नी, बेटे और चालक की मौत होग गई। जबकि, बेटी अस्पताल में जिन्दगी और मौत के बीच जूझ रही है। सिन्हा मिर्जापुर में अपर संख्याकी अधिकारी के पद पर कार्यकरत थे और मूल रूप में जौनपुर के रहने वाले थे।

 

वाराणसी के शीतलपुर कालोनी चांदमारी थाना शिवपुर निवासी सिन्हा जयपुर में आयोजित उत्तर प्रदेश लघु एवं सूक्ष्म लघु मध्यम उद्यम एवं निर्यात प्रोत्साहन एक्सपो में समिलित होने गए थे। साथ ही उनका परिवार भी उनके साथ जयपुर घूमने गया था। शनिवार की भोर में जयपुर से लौटते वक्त आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर ऊसराहा थाना क्षेत्र के कौवा रमपुरा गांव के पास उनकी कार एक्सप्रेस- वे पर खड़े डम्फर पर जा घुसी। हादसे में सिन्हा समेत उनकी पत्नी रेखा। बेटा अमित और चालक रविंद्र की मौत हो गई। जबकि बेटी स्वेता हादसे में गम्भीर रूप से घायल हो गई। स्वेता की रीढ़ की हड्डी टूट गई है।

 

सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतकों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया साथ ही श्वेता हॉस्पिटल भेजा। इधर हादसे की सूचना जब उनके पैतृक निवास जौनपुर पहुंची तो कोहराम मच गया। शनिवार रात सिन्हा, उनकी पत्नी और बेटे का शव उनके पैतृक आवास पहुंचा तो पूरा माहौल गमगीन हो गया। वहीं दूसरीओर उनके शिवपुर शीतलनगर कालोनी स्थित आवास पर सन्नाटा पसरा हुआ था। लोगों का कहना था कि सोचा नहीं था कि हंसता खेलता परिवार पल भर में उजड़ जाएगा।

Sunil Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned