जापान के पीएम के बाद अब फ्रांस के राष्ट्रपति देखेंगे पीएम मोदी के साथ गंगा आरती

जापान के पीएम के बाद अब फ्रांस के राष्ट्रपति देखेंगे पीएम मोदी के साथ गंगा आरती

Devesh Singh | Publish: Feb, 15 2018 11:48:05 AM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India


पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ मार्च के प्रथम पखवारे में आ सकते फ्रांस के राष्ट्रपति, जानिए क्या है कहानी

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में अब फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का दौरा हो सकता है इसको लेकर तैयारी शुरू हो गयी है। जापानी पीएम शिंजो आबे के पास फ्रांस के राष्ट्रपति दूसरे ऐसे बड़े राष्ट्राध्यक्ष होंगे, जो पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ गंगा आरती देखेंगे। फ्रांस के राष्ट्रपति के आगमन को देखते हुए बाबतपुर हवाई अड्डे पर 16 सदस्यीय टीम ने पहुंच कर सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की है।
यह भी पढ़े:-सीएम योगी सरकार पर लगा बड़ा आरोप, मुस्लिमों को खुश करने के लिए जलाभिषेक करने से रोका


फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के 9 से 12 मार्च के बीच बनारस आने की संभावना है। भारत में सोलर एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का आगमन होना है इसके बाद वह काशी होकर मिर्जापुर जा सकते हैं और फिर वापसी के समय काशी में ठहर कर गंगा आरती देखेंगे। वीवीआईपी दौरे को देखते हुए सुरक्षा एजेंसी सर्तक हो गयी है। फ्रांस के राष्ट्रपति की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर बैठक का दौर शुरू हो गया है। संभावना है कि फ्रांस के राष्ट्रपति का हवाई जहाज सीधे बाबतपुर उतरेगा और वहां से हेलीकॉप्टर के जरिए बीएचयू या पुलिस लाइन जायेंगे। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की संभावित यात्रा में सुरक्षा कारणों के चलते बेहद गोपनीयता बरती जा रही है। फ्रांस के राष्ट्रपति के आगमन का बनारस के पर्यटन उद्योग को जबरदस्त लाभ मिलेगा। दुनिया के सबसे प्राचीनतम शहर में जापान के बाद फ्रांस के राष्ट्राध्यक्ष के आने से दुनिया में एक बार फिर से काशी का डंका बजने लगेगा।
यह भी पढ़े:-सीएम योगी आदित्यनाथ ने बदली रणनीति, कल्याण सिंह की तरह नहीं उठाना होगा नुकसान

पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ जापान के पीएम शिंजो आबे ने देखी थी। दिसम्बर 2015 में पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ ही जापान के पीएम काशी में आये थे और गंगा आरती देखने के बाद काशी के प्रबृद्ध लोगों से भेंट की थी। जापान के पीएम ने काशी की गंगा आरती को अदृभृत बताया था इसके बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों आते हैं तो काशी के इतिहास में एक और स्वर्णिम अध्याय जुड़ जायेगा।
यह भी पढ़े:-सारे समीकरण हुए फेल, माफिया से माननीय बने बृजेश सिंह के घर पहुंचे बाहुबली क्षत्रिय नेता राजा भैया

Ad Block is Banned