साल भर में गुड्स ट्रैक पर चलने लगेगी मालगाड़ी, ऑनलाइन होगा खाना बुक

 साल भर में गुड्स ट्रैक पर चलने लगेगी मालगाड़ी, ऑनलाइन होगा खाना बुक

सभी प्लेटफार्म पर लगेंगे एक्सीलेटर, जानिए और क्या है खास



वाराणसी. रेलवे ट्रैक पर ट्रेनों का 60 प्रतिशत अधिक दबाव है। इसके अतिरिक्त ट्रैक व सिग्रल की खराबी के चलते भी ट्रेनों के परिचालन पर असर पड़ता है। बनारस रुट पर ट्रेनों का अधिक दबाव है। इससे निजात पाने के लिए गुड्स ट्रैक बनाये जा रहे हैं। साल भर में यह ट्रैक काम करने लगेंगे। इसके बाद मालगाड़ी को बिना स्टेशन पर आये ही बाहर से निकल जायेगी। इससे सवारी गाडिय़ों को समय से चलाने में सहायता मिलेगी।

यह जानकारी शनिवार को रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने कैंट रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करने के बाद मीडिया से कही। उन्होंने कहा कि कैग ने खाने को लेकर जो रिपोर्ट दी है उसको लेकर रेलवे बहुत गंभीर है। व्यवस्था में बदलाव के लिए सभी आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं। जल्द ही रेलवे में ऑनलाइन खाना बुक करने की सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने बताया कि अधिकारियों से स्पष्ट कर दिया गया है कि रेलवे को लेकर जो योजना चल रही है वह समय के साथ गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूरी होनी चाहिए।


देखे वीडियो:-

वेटिंग हॉल में यात्रियों की सुविधा का होगा विस्तार
एके मित्तल ने कहा कि नये वेटिंग हॉल में यात्रियों की सुविधा में बढ़ोतरी की जा रही है। यात्रियों को गर्मी से बचाने के लिए वहां पर 10 से 15 डाक्टिंग लगाने जायेंगे। इसके बाद जहां पर कमी रह जाती है उसे भी दूर किया जायेगा।
निरीक्षण के बाद अधिकारियों को लगायी फटकार

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल दोपहर 1 बजे कैंट रेलवे स्टेशन पहुंचे थे। सबसे पहले उन्होंने नये वेटिंग हॉल का निरीक्षण किया। इस दौरान रास्ते में सीवर का ढक्कन व रखे अन्य सामान को देख कर नाराजगी जतायी। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि इस हालत में यात्री कैसे वेटिंग हॉल तक जाते होंगे। यात्रियों की सुविधा का खास ध्यान रखा जाये। उन्होंने जल्द ही इस रास्ते को ठीक करने को कहा। वेटिंग हॉल की सफाई व्यवस्था पर नाराजगी जताते हुए कहा कि जब मेरे आने की सूचना पर सफाई व्यवस्था अच्छी नहीं है तो आम दिनों में यहां की सफाई व्यवस्था कैसी होती होगी।

सभी प्लेटफार्म पर लगेगा एक्सीलेटर
एके मित्तल ने प्लेटफार्म नम्बर पांच पर चल रहे निर्माण कार्यों का जायजा लिया।  उन्होंने कहा कि सभी प्लेटफार्म पर एक्सीलेटर लगाये जायेंगे। साथ ही यहां पर यात्रियों को अधिक जगह देने के लिए कुछ निर्माण कार्य तोड़ा जा रहा है और जरूरत पड़ी तो अन्य निर्माण कार्य भी हटाये जायेंगे। निरीक्षण के बाद एके मित्तल डीरेका रवाना हो गये।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned