10th  के नतीजे से नाखुश छात्रा ने लगाई फांसी 

10th  के नतीजे से नाखुश छात्रा ने लगाई फांसी 
suicide

हाईस्कूल में द्वितीय श्रेणी में हुई थी पास

वाराणसी. जिसका भय था वहीं हुआ। बोर्ड परीक्षाओं के नतीजे आने के साथ ही छात्र-छात्राओं के आत्मघाती कदम उठाने का सिलसिला शुरू हो गया है। बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में सोमवार को हाईस्कूल की छात्रा ऋतिका सेठ ने फांसी लगाकर अपनी इहलीला समाप्त कर ली। 

रिजल्ट आने के बाद से थी परेशान

चेतगंज थाना क्षेत्र के जगतगंज निवासी भानु के पांच बेटे-बेटियों में सबसे बड़ी ऋतिका  जीजीआईसी सिगरा में कक्षा दस की छात्रा थी। रविवार को रिजल्ट निकला था। ऋतिका द्वितीय श्रेणी में पास हुई थी। 55 प्रतिशत नंबर आने से ऋतिका परेशान थी। आभूषण के कारोबार से जुड़े परिजनों को ऋतिका के नंबर से कोई परेशानी नहीं थी। उन्होंने बेटी को सराहने के साथ ही इंटर में और अच्छा करने के लिए प्रोत्साहित भी किया लेकिन खुद ऋतिका अपने रिजल्ट से खुश नहीं थी क्योंकि उसने काफी मेहनत की थी।
 
सबके लिए नाश्ता बनाया और फिर...

रविवार को पूरा घर ऋतिका के पास होने की खुशी में जश्न मना रहा था लेकिन उन्हें यह नहीं पता था कि आने वाली सुबह उन्हें जिंदगी भर का गम दे जाएगी। सोमवार सुबह ऋतिका ने रोज की भांति घरवालों के लिए नाश्ता बनाया। भाई-बहनों के साथ नाश्ता करने के बाद वह अपने कमरे में चली गई। बहुत देर तक जब वह बाहर नहीं निकली तो मां कमरे में पहुंची। अंदर का दृश्य देखकर चीख निकल गई। उनकी बेटी दुपट्टे के सहारो पंखे से लटक रही थी। शोर सुनकर आसपास के लोग भी पहुंचे और ऋतिका को नीचे उतारा। सांस की आस में समीप के एक अस्पताल ले गए लेकिन डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned