देश के सबसे बड़े कारपेट मेला का बनारस में आगाज

देश के सबसे बड़े कारपेट मेला का बनारस में आगाज
carpet expo

तीन से छह अक्टूबर तक चलने वाले मेला में दुनिया के साठ देशों के बायर्स आएंगे 

वाराणसी. कारपेट एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल की ओर से आयोजित इंडिया कारपेट एक्सपो का वाराणसी में सोमवार को आगाज हुआ। संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्वद्यालय के प्रांगण में भाजपा सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने 32वें कारपेट मेला का उद्घाटन किया। तीन से छह अक्टूबर तक चलने वाले इस कारपेट मेला में संत रविदास नगर यानि भदोही समेत देश के विभिन्न हिस्सों से आए कालीन निर्यातकों के साढ़े तीन सौ अधिक स्टाल लगे हैं। 

इस मौके पर सीइपीसी यानि कारपेट एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल के अध्यक्ष कुलदीप राज वाटल ने बताया कि मेले के प्रथम दिन सभी अमेरिका, आस्ट्रेलिया, आस्ट्रिया,  रोमानिया, बुल्गारिया समेत कई देशों के बायर्स का आगमन हुआ। विश्व के कुल साठ  देशों के चार सौ छह आयातकों ने अपना पंजीयन कराया है। दूसरे और तीसरे दिन कारपेट मेला में सभी बायर्स के आने की उम्मीद है। भारत-पाक के बीच तनाव के चलते बायर्स के आगमन की आशंका को उन्होंने सिरे से खारिज किया। उम्मीद जताई की चीन के प्रतिनिधि में कारपेट मेला में शामिल होंगे। हमने कारपेट के बड़े खरीददार देशों मसलन  यूएस, कनाडा, साउथ अफ्रीका, ब्राजील चीनी, व दूसरे लैटिन अमेरिकी देशों के बायर्स को हवाई यात्रा में छूट के साथ ही स्थानीय होटलों में दो दिन के प्रवास की सुविधा दी है ताकि कारपेट मेला का उद्देश्य सफल हो सके। 

मेले के प्रथम दिन बायर्स को भदोही की कालीन खूब पसंद आई। सर्वाधिक भीड़ भदोही के कालीन निर्यातकों के स्टॉल पर देखने को मिली। इन स्टालों पर हजार रुपये से लेकर लाखों की कीमत के कालीन, रग व अन्य हस्तनिर्मित उत्पाद देखने को मिले। वहीं निर्यातक तुर्की व अन्य देशों के बायर्स के न आने की उम्मीद से थोड़े चिंतित दिखे। निर्यातकों ने बताया कि तुर्की की सरकार ने टैक्स इतना बढ़ा दिया है कि वहां के बायर्स चाहकर भी कारोबार नहीं कर पा रहे हैं। बाल मजदूरी के नाम पर बीते कई सालों से अमेरिका बिदका था लेकिन अब वहां के बायर्स ने एक बार फिर भदोही में हस्त निर्मित कालीन पर भरोसा जताया है। अमेरिका के साथ आने से इस बार अच्छा आर्डर मिलने की उम्मीद है। 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned