Breaking news पाकिस्तान को एक और झटका, भारत ने कारपेट एक्सपो से किया बाहर

Breaking news पाकिस्तान को एक और झटका, भारत ने कारपेट एक्सपो से किया बाहर
cpec

कारपेट एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ने नहीं भेजा न्यौता, 3 अक्टूबर से शुरू हो रहा वाराणसी में एक्सपो

विकास बागी

वाराणसी. जम्मू-कश्मीर में उरी अटैक के बाद पाकिस्तान की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। बुधवार की देर रात भारतीय सेना ने पाकिस्तान की मांद में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक के तहत आतंकियों की ऐसी सर्जरी कर डाली कि पाकिस्तान की बोलती बंद हो गई है। भारत ने पाकिस्तान को सिर्फ जंग-ए-मैदान में ही नहीं घेरा है, व्यापार से लेकर अन्य माध्यमों के जरिए भी पाकिस्तान पर लगाम कसने की तैयारी चल रही है। सार्क सम्मेलन में शामिल न होने का फैसला लेकर पहले ही सम्मेलन को रद करा दिया है और अब आर्थिक जगत के मोर्चे पर एक ऐसा निर्णय लिया जिससे पाकिस्तान के उद्योग जगत को एक और झटका लगा है। 

दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के बीच भारत ने पाकिस्तान को एक और तगड़ा झटका दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में तीन अक्टूबर से हो रहे शुरू हो रहे चार दिनी कारपेट एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ने पाकिस्तान को अबकि न्यौता नहीं भेजा है। टेक्सटाइल्स मंत्रालय द्वारा प्रत्येक वर्ष आयोजित होने वाले इस कारपेट एक्सपो से जुड़ी तैयारियों को लेकर बनारस में मौजूद अधिकारियों ने बताया कि उरी हमले के बाद ही मंत्रालय ने निर्णय ले लिया था कि इस बार कारपेट मेला में पाकिस्तान को न्यौता नहीं भेजा जाएगा और इसकी जानकारी पीएमओ को भी दी गई थी। मंत्रालय ने उन बायर्स को भी न्यौता नहीं भेजा या यूं कहें कि उनके आने पर रोक लगा दी है जिनका वीजा पाकिस्तान का है, भले ही वह किसी और देश में क्यों न रहकर अपना कारोबार कर रहे हों। 

कालीन निर्यात संवर्धन परिषद यानि कारपेट एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल की ओर से देश में 32वां कारपेट एक्सपो का आयोजन वाराणसी में किया जा रहा है। तीन अक्टूबर से वाराणसी के संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय परिसर में शुरू हो रहे कारपेट मेला में दुनिया के 57 देशों के बायर्स भाग ले रहे हैं। इन देशों में चीन, दुबई, जापान, जर्मनी, रूस, आस्ट्रेलिया, ब्राजील, इंग्लैंड, नेपाल, थाईलैंड समेत दुनिया के अन्य देश के प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं। वाराणसी में आयोजित इस कारपेट एक्सपो में देश के भदोही, जयपुर, सोनीपत समेत अन्य शहरों के कालीन निर्यातकों के साढ़े तीन सौ से अधिक स्टाल लगे हैं। उम्मीद है कि टेस्टाइल्स मिनिस्टर स्मृति ईरानी कारपेट एक्सपो का उद्घाटन करेंगी। समारोह में देश के कई केंद्रीय मंत्री भी शामिल होंगे। 

काशी में नवरात्र के मौके पर शुरू हो रहे इस कारपेट एक्सपो में इस बार पाकिस्तान के शामिल न होने की जानकारी से कालीन नगरी भदोही समेत कालीन के धंधे से जुड़े देश के अन्य शहरों के निर्यातकों ने खुशी जताई है। भदोही के कालीन कारोबारी समरेंद्र व अरविंद ने कहा कि व्यापार और पीठ पर वार एक साथ नहीं हो सकता। 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned