आईपीएस नितिन तिवारी ने लिया कप्तान का चार्ज, क्राइम ब्रांच की अनोखी सलामी

आईपीएस नितिन तिवारी ने लिया कप्तान का चार्ज, क्राइम ब्रांच की अनोखी सलामी
new ssp varanasi

वाराणसी की ध्वस्त यातायात व्यवस्था में सुधार पहली प्राथमिकता

वाराणसी. जय गुरुदेव के सत्संग कार्यक्रम में भगदड़ से हुई मौत के बाद लापरवाही के आरोप में हटाए गए आकाश कुलहरि के स्थान पर तैनात वाराणसी के नए कप्तान नितिन तिवारी ने मंगलवार को बाबा विश्वनाथ व कालभैरव के दरबार में मत्था टेकने के बाद एसएसपी ऑफिस में चार्ज लिया। चार्ज लेने के साथ ही उन्हें क्राइम ब्रांच ने आधा दर्जन से अधिक बदमाशों को गिरफ्तार व भारी मात्रा में असलहा-कारतूस बरामद कर अपने अनोखे अंदाज में सलामी दी। 

एसएसपी आफिस में मीडिया से बातचीत में जिले के नवागत कप्तान नितिन तिवारी ने कहा कि यहां की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार उनके लिए बड़ी चुनौती है। मातहतों को चेतावनी दी गई है कि थाने पर आने वाले हर पीडि़त की फरियाद सुनी जाए, प्राथमिकी हर हाल में दर्ज हो। उनके कार्यालय में यदि किसी पीडि़त ने आकर कहा कि संबंधित थाने पर उसकी फरियाद नहीं सुनी जा रही तो फिर थानेदार सीधे नपेंगे। नए कप्तान ने दावा किया कि एक माह के भीतर पुलिसिंग में सुधार दिखेगा। 

एसएसपी नितिन तिवारी ने मीडिया से बातचीत के दौरान क्राइम ब्रांच की सफलता को भी साझा किया। बताया कि क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि लक्सा थाना क्षेत्र में असलहों के सौदागर जुटने वाले हैं और कोई बड़ी डील होनी है। क्राइम ब्रांच के अतुल नारायण सिंह, ओम सिंह ने लक्सा पुलिस को  सूचित करने के साथ ही मय फोर्स मुखबिर के बताए स्थान पर घेरेबंदी कर दी। पुलिस को देखते ही बदमाशों ने फायर किया लेकिन पुलिस ने अपना बचाव करते हुए आधा दर्जन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। 

गिरफ्तार बदमाश धीरज तिवारी, अतुल यादव, रिंकू राजभर, दीपक भारद्वाज, जितेंद्र कुमार, सादिक सभी वाराणसी के कैंट और सारनाथ थाना क्षेत्र के निवासी हैं। इनके पास से तीन पिस्टल, चार देशी कट्टा के साथ ही प्रतिबंधित बोर के साथ ही विभिन्न बोर के 22 कारतूस बरामद हुए हैं। इनके पास से चोरी की दो बाइक और आठ मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं। पूछताछ में बदमाशों ने स्वीकार किया कि पैसे की लालच में यह असलहे की खरीद-फरोख्त करते हैं। 

असलहा-कारतूस की तस्करी में तथाकथित अधिवक्ता अभिषेक सिंह प्रिंस सारनाथ थाना क्षेत्र का प्रापर्टी डीलर संतोष मौर्य भी शामिल हैं। गिरफ्तार बदमाश धीरज व सादिक ने बताया कि संतोष और प्रिंस बिहार से असलहा, कारतूस लाकर उन्हें देते थे बेचने के लिए। पुलिस इन दोनों की तलाश कर रही है। 

गिरफ्तार बदमाशों ने बताया कि आजमगढ़ के बेचू और भीम के पास एके 47 और कार्बाइन जैसे घातक हथियार मौजूद हैं। मेहनाजपुर सिधौना निवासी बेचू और भीम ने ये दोनों हथियार पचास हजार ईनामी बदमाश धर्मेंद्र से प्राप्त किए थे जिसे पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था। बेचू और भीम ने इन हथियारों की बिक्री के लिए ग्राहक की तलाश करने को कहा था लेकिन सौदा से पहले ही वे पकड़े गए। बदमाशों को गिरफ्तार करने वाली टीम में ओम नारायण सिंह, अतुल नारायण सिंह, राजीव सिंह, संजीत बहादुर, श्यामलाल गुप्ता, सुमंत सिंह, रामबाबू, राहुल सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे। 
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned