जौनपुर जेल आरक्षी की हत्या की योजना को वाराणसी STF टीम ने किया विफल

जौनपुर जेल आरक्षी की हत्या की योजना को वाराणसी STF टीम ने किया विफल
stf

जेल में बंद शातिर अपराधियों के खेल का हुआ खुलासा, मुठभेड़ के बाद एसटीएफ और पकड़े गए दो शातिर अपराधी. जानें कैसे-क्या हुआ...

वाराणसी. जौनपुर जेल आरक्षी की हत्या की योजना को वाराणसी एसटीएफ टीम ने किया विफल। मुठभेड़ के दौरान एसटीएफ टीम ने दो शातिर अपराधियों को पकड़ा। जेल से चल रहे शातिर अपराधियों की काली करतूतों का हुआ खुलासा। असलहे बरामद। पकड़े गए अपराधियों ने जुर्म कबूल किया।

जौनपुर जेल में बंद शातिर अपराधी ने बनाई थी योजना

एसटीएफ, उत्तर प्रदेश को काफी दिनो से जेल में निरूद्ध कुख्यात अपराधियों द्वारा जेल से आपराधिक गतिविधियों का संचालन करने तथा जेल कर्मियों को निशाना बनाकर उनकी हत्या की योजना बनाने की सूचनायें प्राप्त हो रही थीं। इस परिप्रेक्ष्य में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ, उत्तर प्रदेश अमित पाठक ने एसटीएफ, उत्तर प्रदेश की विभिन्न इकाईयों को जेल में निरूद्ध कुख्यात अपराधियों की निगरानी व निरंतर अभिसूचना संकलन कर कार्रवाई का निर्देश दिया।
अपर पुलिस अधीक्षक एसआनन्द  के निर्देशन और पुलिस उपाधीक्षक ज्ञानेन्द्र नाथ प्रसाद के पर्यवेक्षण में एसटीएफ फील्ड इकाई, वाराणसी ने वाराणसी जोन की विभिन्न जेलो में निरूद्ध अपराधियों के संबंध में अभिसूचना संकलन की कार्रवाई शुरू की। इसी दौरान विश्वसनीय सूत्रों से सूचना मिली कि कि जौनपुर जेल में निरूद्ध आगरा का कुख्यात अपराधी धारा सिंह जेल के बंदी रक्षक हरिश्चन्द राम की हत्या कराने की योजना बना रहा है, जिसके लिए उसने नैनी जेल में निरूद्ध अपराधी विनय सिंह उर्फ भइया जी के माध्यम से शूटरों का इंतजाम किया है। इस सूचना को विकसित करने पर यह ज्ञात हुआ कि उक्त अपराधी के शूटरों द्वारा मोबाइल फोन के माध्यम से जेल में निरूद्ध कुख्यात अपराधी धारा सिंह से सम्पर्क किया जा रहा है तथा हत्या की योजना बनायी जा रही है। प्रकरण की गम्भीरता से लेते हुए फील्ड इकाई वाराणसी ने शूटरों को चिन्हित कर उनकी गिरफ्तारी के लिए अभिसूचना तंत्र को सक्रिय कर महत्वपूर्ण सूचनाएं हासिल कीं। इसी कड़ी में गुरुवार को मुखबिर के माध्यम से सूचना मिली कि बंदी रक्षक हरिश्चन्द राम की हत्या करने की सुपारी लेने वाले दो अपराधी अपने किसी साथी से मिलने कैंट स्टेशन, वाराणसी से जेएचवी मॉल आने वाले हैं। एसटीएफ टीम जैसे ही मौके पर पहुंची मुखविर ने सूचना दी कि उक्त अपराधी सेन्ट मेरी स्कूल के सामने खड़े होकर अपने साथी का इंतजार कर रहे हैं। इस पर एसटीएफ टीम उक्त अभियुक्तों की तलाश करते हुए सेन्ट मेरी स्कूल के समीप पहुंची जहां मुठभेड़ के बाद आवश्यक बल प्रयोग करते हुए विजेन्द्र कुमार सिंह व सुशील कुमार सिंह को गिरफतार कर लिया।

पकड़े गए अपराधियों ने कबूला जुर्म
पूछताछ में विजेन्द्र कुमार सिंह उर्फ प्रिंस ने बताया कि वह वर्ष 2015 में नवम्बर से दिसम्बर तक जौनपुर जेल में हत्या के प्रयास के मुकदमें में निरूद्ध था। इसी दौरान उसका सम्पर्क कुख्यात अपराधी धारा सिंह से हो गया। जमानत पर रिहा होने के पश्चात् भी वह धारा सिंह के सम्पर्क में रहा। धारा सिंह द्वारा जौनपुर जेल से संचालित की जा रही आपराधिक गतिविधियों पर बंदी रक्षक हरिश्चन्द राम द्वारा अंकुश लगाया जाता रहा है, जिससे धारा सिंह क्षुब्ध था। इसी कारण उसने उक्त बंदी रक्षक की हत्या करने की योजना बनायी थी। इसके लिए उसने प्रिंस से सम्पर्क किया। प्रिंस व सुशील ने बंदी रक्षक हरिश्चन्द की लोकेशन लेने का कई बार प्रयास किया, जिसके लिए उसने कचहरी व अन्य कई स्थानो पर उसकी तलाश की। हत्या की घटना को अंजाम देने के लिए प्रिंस अपने साथी सुशील के साथ 20 जून को जौनपुर जेल परिसर के बाहर स्थित एक प्राईवेट कैंटीन पहुंचा तथा धारा सिह से मोबाइल से सम्पर्क करता रहा तथा बंदी रक्षक हरिश्चन्द की लोकेशन व उसके हुलिया के बारे में जानकारी लेता रहा। काफी देर तक इंतजार के बाद भी जब बंदी रक्षक हरिश्चन्द राम नहीं आया तो धारा सिंह ने बताया कि किसी और दिन वह हरिश्चन्द राम को बाहर भेजेगा। इसी दौरान प्रिंस को मैहर देवी जाना था, जिसके लिए वह वाराणसी आया था। वाराणसी में ही धारा सिंह के सम्पर्को के माध्यम से उसे रूपये मिलने थे, जिसका वह इंतजार कर रहा था।

गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरणः-
-विजेन्द्र कुमार सिंह उर्फ प्रिंस पुत्र महेन्द्र प्रताप सिंह निवासी धुरहूपुर, थाना केराकत, जनपद जौनपुर।
- सुशील कुमार सिंह पुत्र इन्द्रपाल सिंह उर्फ कक्का निवासी धुरहूपुर, थाना केराकत, जनपद जौनपुर।

बरामदगी
01 पिस्टल 32 बोर
01  रिवाल्वर 32 बोर
03  जिन्दा कारतूस व 01 अदद खोखा कारतूस 32 बोर
03  मोबाइल फोन

stf

विजेन्द कुमार सिंह उर्फ प्रिंस का आपराधिक इतिहास
मु0अ0सं0-848/15 धारा 307/147/148/149 भादवि, थाना केराकत, जनपद जौनपुर।
 मु0अ0सं0-526/16 धारा 3(1)गुण्डा अधिनियम, थाना केराकत, जनपद जौनपुर।






















सुशील कुमार सिंह का आपराधिक इतिहास
मु0अ0सं0-848/15 धारा 307/147/148/149 भादवि, थाना केराकत, जनपद जौनपुर।
मु0अ0सं0-527/16 धारा 3(1)गुण्डा अधिनियम, थाना केराकत, जनपद जौनपुर।
गिरफ्तार अभियुक्तो को वाराणसी के थाना कैंट वाराणसी में दाखिल कर इनके विरूद्ध अभियोग पंजीकृत कराया गया है। अग्रिम विधिक कार्रवाईस्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।

stf

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned