सीएम योगी आदित्यनाथ तक पहुंचा Kashi Vidyapith का विधि प्रवेश प्रकरण

  सीएम योगी आदित्यनाथ तक पहुंचा Kashi Vidyapith का विधि प्रवेश प्रकरण
Kashi Vidyapith

जिलाधिकारी ने भी दिया उचित कार्रवाई करने का आश्वासन, जानिए क्या है कहानी



वाराणसी. महत्मा गांधी काशी विद्यापीठ में विधि प्रवेश प्रकरण अब सीएम योगी आदित्यनाथ तक पहुंच गया है। मंगलवार को छात्रों ने तहसील दिवस पर छात्रों ने जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र से भेंट करके प्रकरण संबंधित ज्ञापन सौंपा है, इस पर डीएम ने आवश्यक कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है। छात्रों ने एसीएम तृतीय के माध्यम से सीएम को भी ज्ञापन भेजा है।

LLB Entrance
Hindu youth vahini
महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के विधि प्रवेश प्रकरण अब तूल पकड़ता जा रहा है। छात्रों का आरोप है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने चहेतों को प्रवेश दिलाने के लिए जमकर खेल किया है। छात्रों का आरोप है कि यूपी बोर्ड ने जिन केन्द्रों को ब्लैक लिस्टेड किया है वहां पर प्रवेश परीक्षा का सेंटर बना कर मनमाने ढंग से नकल करायी गयी है। विधि प्रवेश परीक्षाफल की जांच के लिए छात्रों ने आंदोलन भी किया था और परिसर में धरना-प्रदर्शन करके अपनी मांग मनवाने में जुटे थे। विश्वविद्यालय प्रशासने ने मामले की जांच का आश्वासन दिया है। इसके बाद भी छात्रों ने सीएम से लेकर डीएम से प्रकरण की शिकायत की है।
CCTV

जानिए क्या लिखा ज्ञापन में
छात्रों ने ज्ञापन में कहा कि तीन वर्षीय विधि प्रवेश परीक्षाफल की कट ऑफ लिस्ट जारी की गयी है वह सही नहीं है। एक अभ्यर्थी को 200 में से 195 अंक दिया गया है। छात्रों का आरोप है कि परीक्षा केन्द्रों पर लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की मांग की गयी थी, लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन सिर्फ आश्वासन दे रहा है और जांच के बहाने सीसीटीवी फुटेज को डीलिट करना चाहता है। छात्रों ने कहा कि माध्यमिक शिक्षा परिषद् ने जिन कालेजों को ब्लैक लिस्टेड किया है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने नकल कराने के उद्देश्य से उन परीक्षा केन्द्रों को सेंटर बना दिया था। ज्ञापन में छात्रों ने ऐसे परीक्षा केन्द्रों का नाम भी दिया है, जिसमें सिल्वर गो पब्लिक स्कूल महेशपुर, सरदार पटेल इंटर कालेज चांदपुर व सनराइज इंटर कालेज नरिया शामिल है। ज्ञापन देने वालों में हिन्दू युवा वाहिनी के राघवेन्द्र केशरी, रविभान सिंह, छात्रसंध उपाध्यक्ष प्रेम प्रकाश गुप्ता, प्रशांत राय, दिलीप दीक्षित, अभय प्रताप सिंह आदि छात्रनेता शामिल थे।
Blacklisted Examination Center
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned