साथियों की हत्या-हमले के विरोध में अधिवक्ताओं का कार्य बहिष्कार 

साथियों की हत्या-हमले के विरोध में अधिवक्ताओं का कार्य बहिष्कार 
walkout lawyers

कचहरी परिसर में निकाला जुलूस, डीएम कार्यालय के बाहर की नारेबाजी

वाराणसी. प्रदेश में कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। प्रदेश में आए दिन आए वकीलों की हो रही हत्या व हमले से वकीलों में गहरा आक्रोश है। लखनऊ में अधिवक्ता संजय वर्मा की हत्या और बनारस में रोहित मौर्य के ऊपर हुए हमले के विरोध में शनिवार को  वकीलों ने कार्य बहिष्कार किया। कचहरी परिसर में वकीलों ने जुलूस निकाला और कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए डीएम कार्यालय के बाहर जमकर नारेबाजी की। डीजीपी को चेतावनी दी कि चौबीस घंटे के भीतर हमलावरों की गिरफ्तारी न हुई तो वे आंदोलन को मजबूर होंगे। 
जुलूस से पूर्व अधिवक्ताओं ने बनारस बार एसोसिएशन के सभागार में बैठक की। हमले में मारे गए अधिवक्ता संजय वर्मा की आत्मा की शांति को दो मिनट का मौन रखा और उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। अधिवक्ताओं ने प्रदेश सरकार ने मृतक के परिजनों को सरकारी नौकरी, आर्थिक मदद के लिए 50 लाख रुपये देने की मांग की। उधर अधिवक्ता रोहित मौर्य के ऊपर हुए हमले के मामले में सीसी फुटेज के आधार पर मुकदमा दर्ज कर हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग की। श्रद्धांजलि सभा और जुलूस में श्रीनाथ त्रिपाठी, नित्यानंद राय, देशरत्न श्रीवास्तव, वीरेंद्र श्रीवास्तव, विवेक सिंह, वेंकटेश्वर सिंह, शिवपूजन सिंह समेत अन्य अधिवक्ता शामिल थे। 
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned