भारतीय शिक्षा पद्धति पर अमेरिका में व्याख्यान देंगे बनारस के मास्टर नंदलाल

भारतीय शिक्षा पद्धति पर अमेरिका में व्याख्यान देंगे बनारस के मास्टर नंदलाल
Master Nandlal

Ajay Chaturvedi | Updated: 13 Jun 2019, 03:53:25 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

अमेरिका से आया बुलाव
25 साल से बुनकरों के बच्चों को दे रहे निःशुल्क शिक्षा
महिलाओं और लडकियों को प्रशिक्षित कर तोड़ चुके है कई कुरीतियां

वाराणसी. गरीब तबके के बच्चों खास तौर पर बुनकर समाज के बच्चों को तालीम देने, लड़कियों और महिलाओं को जागरूक कर सामाजिक कुरीतियो को खत्म करने में अपना जीवन समर्पित करने वाले बनारस के इस मास्टर नंदलाल को अमेरिका में विशेष व्याख्यान के लिए आमंत्रित किया गया है। वह 21 से 23 जून तक अमेरिका के विभिन्न शहरों में घूम कर में शिक्षा का मौलिक अधिकार और ग्रामीण शिक्षा ब्यवस्था में सुधार विषयक व्याख्यान देंगे।

वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता नंदलाल मास्टर को यूएसए की संस्था आशा फॉर एजुकेशन ने विशेष अतिथि के तौर पर अमेरिका आमंत्रित किया है। आशा फॉर एजुकेशन का 28वां अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन अमेरिका के शिकागो शहर में 21 से 23 जून को आयोजित किया गया है। इस अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में सामाजिक संस्था लोक समिति के संयोजक नंदलाल मास्टर विशेष अतिथि के तौर पर भारत में शिक्षा का मौलिक अधिकार और ग्रामीण शिक्षा ब्यवस्था में सुधार विषय पर विशेष रूप से व्याख्यान देंगे।

बता दें कि बुनकर समाज में पैदा हुए मास्टर नंदलाल आशा ट्रस्ट के सहयोग से अपनी संस्था लोक समिति के माध्यम से पिछले 25 वर्षों से बुनकर परिवार के गरीब बच्चों को निःशुल्क शिक्षा प्रदान कर रहे है। वह आशा फॉर एजुकेशन के सहयोग से नागेपुर में आशा सामाजिक स्कूल चला रहे है। साथ ही आराजी लाईन के 50 से अधिक गांवों में लड़कियों, महिलाओं की शिक्षा, स्वास्थ्य और नारी सशक्तिकरण के लिए कार्य कर रहे है। उनके 25 वर्षो के सतत प्रयास से हजारों बच्चो को बाल विवाह, बाल मजदूरी और बंधुआ मजदूरी जैसी कुरितियो से मुक्ति मिली हैं।

अपनी संस्था लोक समिति द्वारा लोगों के जनसहयोग से अब तक गरीब परिवार के 1150 से अधिक जोड़ों का दहेज रहित सामूहिक विवाह करा चुके है। इसके लिये मेगा स्टार अमिताभ बच्चन भी उन्हें सम्मानित कर चुके हैं। पर्यावरण संरक्षण में विशेष रूचि रखने वाले नन्दलाल मास्टर मेहदीगंज स्थित शीतल पेय कंपनी कोका कोला द्वारा किये जा रहे भूजल दोहन के खिलाथफ लम्बे समय से आंदोलन चला रहे है।

नंदलाल मास्टर ने बताया कि वे आशा फार एजुकेशन के सम्मेलन में शामिल होने के लिए 17 जून को नई दिल्ली से शिकागो के लिये रवाना होंगे। वह 21 से 23 जून तक आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में विशेष अतिथि के तौर पर शामिल होंगे। इसके अलावा वे अमेरिका के अटलांटा, न्यूयॉर्क, बोस्टन, ऑस्टिन, सीएटल शहर में आशा फॉर एजुकेशन और दूसरी अन्य संस्थाओं ने आमंत्रित किया है जहां वह भारत में शिक्षा और ग्रामीण भारत के सर्वांगीण विकास पर विशेष ब्याख्यान देंगे। इसके लिये अमेरिका सरकार ने उन्हें 10 वर्ष तक के लिए वीजा मंजूर किया है। नन्दलाल मास्टर 12 जुलाई को भारत वापस आएंगे।

नन्दलाल मास्टर को अमेरिका का आमंत्रण और वीजा मिलने पर नागेपुर के पूर्व प्रधान मुकेश कुमार, श्यामसुन्दर मास्टर, पंचमुखी, राकेश, विनोद, सुनील, रामबचन, अमित, सरिता, अनीता, सोनी, सुरेश, महेन्द्र , प्रधानसंघ अध्यक्ष तेजनाथ पटेल, रंजू सिंह आदि समेत ग्रामवासियों ने ने खुशी जाहिर की और उन्हें बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने गांव का नाम रौशन किया है।

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned