पूर्वांचल में यादव बहुल सीटों पर ही मायावती को मिली थी जीत

पूर्वांचल में यादव बहुल सीटों पर ही मायावती को मिली थी जीत
मायावती

Akhilesh Kumar Tripathi | Updated: 04 Jun 2019, 01:46:20 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

  • पूर्वांचल की गाजीपुर, जौनपुर, घोसी और लालगंज सीट पर बसपा को मिली थी जीत
  • गाजीपुर में 4 लाख के करीब यादव वोटर

अखिलेश त्रिपाठी

वाराणसी. मायावती ने सपा से गठबंधन तोड़ने का ऐलान कर दिया है, लोकसभा चुनाव में हार की समीक्षा की बैठक के बाद मायावती ने इस बात का ऐलान किया । उन्होंने यूपी की 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में अकेले लड़ने की बात कही। मायावती ने यादवों पर भीतरघात का आरोप लगाते हुए कहा कि सपा के बेस वोट यानि यादव वोटों का भी उन्हें साथ मिला, जिसके बाद उन्होंने यह फैसला लिया है । मगर मायावती के इस दावे के विपरीत पूर्वांचल में जहां भी बसपा ने जीत हासिल की, वहां यादव वोटरों ने खुलकर उनका साथ दिया । पूर्वांचल की जिन चार सीटों पर मायावती जीतीं, वह यादव बहुल सीटें हैं ।


पूर्वांचल की गाजीपुर, जौनपुर, घोसी और लालगंज लोकसभा सीट पर मायावती ने 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की है, इन सीटों पर यादव वोटरों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है । गाजीपुर लोकसभा सीट जहां से बसपा नेता अफजाल अंसारी ने जीत हासिल की थी, वहां चार लाख के करीब यादव वोटर हैं और लोकसभा चुनाव में यादवों ने बसपा उम्मीदवार का खुलकर समर्थन किया था।

 

यह भी पढ़ें:

लोकसभा चुनाव में हार के बाद बसपा में बड़ा फेरबदल, इन नेताओं को मिली अहम जिम्मेदारी

 

Sp bsp alliance

 

चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में जहां सपा को 22.35 प्रतिशत वोट मिले थे, वहीं इस बार यह आंकड़ा घटकर 17.96 फीसदी ही रह गया. पिछली बार बसपा को 19.77 प्रतिशत मत प्राप्त हुए थे, जो इस बार घटकर 19.26 फीसदी रह गये, मतलब बसपा के मुकाबले सपा को ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा । वोट प्रतिशत में मामूली गिरावट के बाद भी बसपा फायदे में रही और उसने 10 सीटों पर जीत हासिल हुई, वहीं सपा को महज पांच सीटें मिली ।

 

यह भी पढ़ें:


मायावती के गठबंधन तोड़ने के ऐलान के बाद अखिलेश यादव ने तोड़ी चुप्पी, दिया बड़ा बयान

 

 

Bsp mp

 

 

गाजीपुर लोकसभा सीट
इस लोकसभा सीट से बसपा के उम्मीदवार अफजाल अंसारी ने जीत हासिल की है, उन्होंने बीजेपी के कद्दावर नेता मनोज सिन्हा को हराया था । इस लोकसभा सीट पर सबसे ज्यादा यादव वोटर हैं, य़हां यादव वोटर की संख्या करीब 4 लाख है । अफजाल अंसारी को इस सीट पर 564144 वोट मिले थे और उन्होंने करीब एक लाख 19 हजार के बड़े अंतर से चुनाव जीता था ।

जौनपुर लोकसभा सीट
जौनपुर लोकसभा सीट से बसपा से श्याम सिंह यादव ने जीत हासिल की थी, इस लोकसभा सीट पर यादव वोटरों की संख्या दो लाख 25 हजार के आसपास है । बसपा प्रत्याशी श्याम सिंह यादव ने ने करीब 80754 वोटों से बीजेपी के केपी सिंह को मात दी थी, यादव वोटरों की एकजुटता के कारण ही यहां बसपा की जीत आसान हुई थी ।

लालगंज लोकसभा सीट
यूपी की इस सुरक्षित लोकसभा सीट पर यूं तो सबसे ज्यादा दलित वोटर हैं, मगर लोकसभा क्षेत्र की पांच विधानसभा सीटों में से दो से तीन विधानसभा सीटों पर यादव निर्णायक भूमिका निभाते हैं । बसपा की संगीता आजाद ने इस सीट पर एक लाख 61 हजार से अधिक वोटों से जीत हासिल की थी ।

घोसी लोकसभा सीट

घोसी लोकसभा सीट पर बसपा के प्रत्याशी अतुल राय ने जीत हासिल की थी । अतुल राय ने एक लाख 22 हजार के बड़े अंतर से जीत हासिल की थी । इस सीट पर यादव वोटरों की संख्या 1.62 लाख है, अतुल राय को 5 लाख 72 हजार वोट मिले थे और यादवों ने खुलकर अतुल राय का साथ दिया, जिसकी वजह से उनकी जीत सुनिश्चित हुई ।

 

वीडियो में देखें गठबंधन को लेकर क्या बोले अखिलेश यादव:

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned