भड़के मनरेगा मजदूरों ने किया चक्काजाम

भड़के मनरेगा मजदूरों ने किया चक्काजाम
road block

थानेदार के आश्वान पर जाम समाप्त , एक घण्टे प्रभावित रहा राजातालाब-जँसा मार्ग

वाराणसी. मिर्जामुराद क्षेत्र के हरपुर गांव में रविवार की सुबह चकरोड निर्माण के दौरान खेत  स्वामी द्वारा मेठ एवं महिला मजदूर संग दुर्व्यवहार किए जाने से भड़के मनरेगा मजदूरो ने राजातालाब-जँसा मार्ग पर चक्काजाम कर दिया। हाथ में झौवा-फरसा संग महिला-पुरुष मजदूर कारवाई की मांग को लेकर नारेबाजी करने लगे। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे एसओ विवेक श्रीवास्तव ने दोषी के खिलाफ कारवाई का आश्वासन देकर उग्र मजदूरो को समझा-बुझाकर जाम समाप्त कराया। चक्काजाम के चलते एक घण्टे तक उक्त मार्ग पर यातायात प्रभावित रहा।एसडीएम राजातालाब त्रिभुवन भी मौके पर पहुंच चकरोड़ का निरीक्षण किए।चकरोड़ निर्माण में अवरोध एवं दुर्व्यवहार करने वाले आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है।
बताते है कि आराजीलाइन विकास खण्ड के हरपुर ग्राम सभा में महिला प्रधान निर्मला देवी द्वारा चन्द्रबली बिंद के घर से रामधनी बिंद के खेत के पास तक मिट्टी डालकर चकरोड बनाने का काम रविवार की सुबह शुरू कराया गया।चकरोड निर्माण हेतु 160 महिला-पुरुष मनरेगा मजदूर लगे।इस दौरान ओमप्रकाश बिंद नामक खेत स्वामी ने चकरोड का काम रोक दिया।मेठ सोनू राजभर एवं महिला मजदूर तारा देवी का आरोप रहा कि काश्तकार ने उनके साथ दुर्व्यवहार करने के साथ मारपीट की।घटना से आक्रोशित मनरेगा मजदूर सुबह सवा नौ बजे काम बन्द कर हाथो में झौवा-फरसा लेकर राजातालाब-जँसा मार्ग पर आकर पेड़ की टूटी डाल व बांस को सड़क पर रख जाम लगा क़ानूनी कारवाई करने की मांग करने लगे।एसओ समेत पुलिसफोर्स ने मौके पर पहुंच जाम समाप्त कराया। मनरेगा मजदूरो संग जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि योगीराज पटेल , प्रधान प्रतिनिधि बलिराम राजभर  ,  वंशनारायण , भानू , केदार , गोपी , मंशा , बृजेश , विकास , सुशीला , लालमनी , रानी , चिन्ता , प्रभावती , धर्मा , संगीता समेत सैकड़ो रहे।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned