scriptModern Technology Fire Fighting Equipment to control fire in Shri Kashi Vishwanath Dham | अग्निशमन को मॉडर्न टेक्नॉलजी से लैश हुआ काशी विश्वनाथ धाम, पलक झपकते आग पर पा लिया जाएगा काबू | Patrika News

अग्निशमन को मॉडर्न टेक्नॉलजी से लैश हुआ काशी विश्वनाथ धाम, पलक झपकते आग पर पा लिया जाएगा काबू

श्री काशी विश्वनाथ धाम के विशाल परिसर में उमड़ने वाली भक्तों की भीड़ को सुरक्षित रखने और खास तौर पर आगजनी जैसी किसी घटना से बचाव के लिए अग्निशमन विभाग ने धाम परिसर में खास इंतजाम किए हैं। इसके तहत मॉर्डन टेक्नॉलजी का इस्तेमाल किया गया है। इसके तहत ऐेसे यंत्र लगाए गए हैं कि पलक झपते आग पर काबू पाया जा सकेगा।

वाराणसी

Published: June 17, 2022 12:50:35 pm

वाराणसी. श्री काशी विश्वनाथ धाम के विशाल परिसर और यहां आने वाली श्रद्धालुओं की भीड़ को किसी अनहोनी से बचाने के लिए अग्निशमन विभाग ने खास इंतजाम किए हैं। परिसर में ऐसी मॉर्डन टेक्नॉलजी का इस्तेमाल किया गया है कि आग लगते ही पलक झपकते आग पर काबू पा लिया जाएगा। ऐसे यंत्र लगाए गए हैं जो आग लगते ही स्वतः चालू हो जाएंगे और अति शीघ्र आग पर काबू पा लेंगे।
श्री काशी विश्वनाथ धाम
श्री काशी विश्वनाथ धाम
50,280 वर्ग मीटर क्षेत्र वाले धाम परिसर में अग्नि शमन को जॉकी पंप सहित कई इंतजाम

बता दें कि श्रीकाशी विश्वनाथ धाम करीब 50,280 वर्ग मीटर क्षेत्र में फैला है। बाब धाम के नवनिर्मित भवनों में व्यावसायिक गतिविधियां भी जल्द ही आरंभ होने वाली हैं। ऐसे में आगजनी जैसी घटना से बचाव के पुख्ता इंतजाम लाजमी रहा। लिहाजा बेस्ट मॉर्डन टेक्नॉलजी का इस्तेमाल किया गया है। इस संबंध में चीफ फायर ऑफिसर अनिमेष कुमार सिंह बताते हैं कि श्री काशी विश्वनाथ धाम में 1,45,000 लीटर का वाटर टैंक निर्मित है, साथ ही अत्याधुनिक पंप लगाए गए हैं। इसमें जॉकी पंप भी है ज ऑटो मोड में रहता है और आग लगते ही वह स्वतः स्फूर्त चालू हो जाता है। आवश्यकता पड़ने पर इलेक्ट्रिकल पंप भी खुद ही चालू हो जाएगा। ये इलेक्टिकल पंप ज्यादा फोर्स से पानी देगा जिससे आग पर अति शीघ्र नियंत्रण किया जा सकेगा। चीफ फायर ऑफिसर बताते हैं कि किसी कारणवश यदि ये दोनों पंप आग लगने पर नहीं चल पाते हैं तो तीसरा विकल्प डीजल पंप है जो खुद चालू हो जाएगा।
96 फायर हाइड्रेंट हैं बाबा धाम में

उन्होंने बताया है किय बाबा धाम परिसर में 96 फायर हाइड्रेंट हैं, जिसमें 41 एक्सटर्नल और 55 इंटरनल फायर हाइड्रेंट हैं। इसक अलावा 494 स्मोक डिटेक्टर और 46 हीट डिटेक्टर भी हैं। साथ ही अलग तरह के करीब 224 फायर एक्सटिंग्विशर भी परिसर में लगाए गए हैं। सुरक्षा के लिए लिहाज से लगाए गए 162 सीसीटीवी कैमरों से कंट्रोल रूम में निरंतर निगरानी होती रहती है।
फायर ब्रिगेडकर्मी रखते हैं फायर पैनल पर निगाह
बताया कि फायर ब्रिगेडकर्मी भी निरंतर फायर पैनल पर पैनी निगाह रखते हैं, ताकि आग लगने वाली सही जगह की पहचान फौरन हो सके और उस पर बिना समय गवाएं काबृ पाया जा सके। साथ ही विभाग के पास पोर्टेबल पंप भी हैं जिनसे गंगा से सीधे पानी लिया जा सकेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

VP Jagdeep Dhankhar: 'किसान पुत्र' जगदीप धनखड़ ने ली उपराष्ट्रपति पद की शपथ, झुंंझुनू सहित पूरे राजस्थान में जश्न का माहौलMaharashtra: महाराष्ट्र में स्टील कारोबारी पर इनकम टैक्स का छापा, करोड़ों रुपये कैश सहित बेनामी संपत्ति जब्तJammu-Kashmir: उरी जैसे हमले की बड़ी साजिश हुई फेल, Pargal आर्मी कैंप में घुस रहे 3 आतंकी ढेरममता बनर्जी को एक और झटका, अब पशु तस्करी केस में TMC नेता अनुब्रत मंडल को CBI ने किया गिरफ्तारकाले कारनामों को छिपाने के लिए 'काला जादू' जैसे अंधविश्वासी शब्दों का इस्तेमाल करें बंद, राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशानादिल्ली में मास्क पहनना फिर अनिवार्य, जानें नए नियम और पेनालिटीMaharashtra: महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब विभाग बंटवारे का इंतजार, गृह और वित्त मंत्रालय पर मंथन जारीमुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज फिर दिल्ली पहुंचे ,उपराष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में होंगे शामिल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.