वाराणसी में मुख्तार अंसारी का करीबी मछली कारोबारी सलीम समेत तीन गिरफ्तार, पुलिस ने छावनी स्थित बंगले पर मारा छापा

पुलिस ने भारी मात्रा में मछली, अंडा आदि भी बरामद किये इनमें प्रतिबंधित थाई मांगुर भी शामिल है। पुलिस ने मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के करीबी सलीम को उसके छावनी स्थित बंगले में बने आवास से गिरफ्तार किया।

वाराणसी. मऊ और गज़ीपुर के बाद बनारस में भी मुख्तार अंसारी के गिरोह और उनके करीबियों पर कार्रवाई का सिलसिला शुरू हो गया है। पुलिस ने बनारस में मुख्तार के करीबी मछली कारोबारी नेता सलीम समेत तीन लोगों को छावनी स्थित मकान से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक इनके पास से वाहन पर लदी 6.5 टन प्रतिबंधित मछलियां भी बरामद की गयी हैं। सलीम की गिरफ्तारी के बाद पूछताछ करने एसएसपी प्रभाकर चौधरी खुद कैंट थाने पहुंचे। तीनों के खिलाफ महामारी अधिनियम समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

पुलिस की मानें तो उसे सूचना मिल रही थी कि माफिया सरगना मुख्तार अंसारी के सहयोगी व गुर्गे अवैध रुप से प्रतिबन्धित मछली व अण्डे की बिक्री धड़ल्ले से कर रहे है तथा शहर के मछली मण्डियो से धमकी देकर अवैध वसूली की जा रही है। इसी आधार पर सोमवार सुबह छावनी स्थित सलीम के आवास बंगला नंबर 51 में छापेमारी की गई। वहां में बंगले में एक छोटा तालाब बना पाया गया, जिसमें कई प्रकार की मछलियां भी पायी गयीं, जिनमें प्रतिबंधित थाई मांगुर जैसी मछलियां भी शामिल हैं।

 

पुलिस इस मामले में पूछताछ के लिए मछली व्यवसायी मो. सलीम के साथ ही उसके मैनेजर आनंद के साथ ही चेतगंज निवासी राजेश को कैंट थाने ले गयी, जहां उनसे पूछताछ के लिये एसएसपी प्रभाकर चौधरी खुद पहुंच गए। उन्होंने मीडिया को बताया कि बंगले में अपने सहयोगियों के साथ लंबे समय से गैर कानूनी कार्य कर रहा था।

 

गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस ने करीब 1 लाख रुपये मूल्य की 6.5 क्विंटल और अनुमानित 1 लाख 10 हज़ार रुपये मूल्य की 5.5 क्विंटल प्रतिबन्धित मांगुर मछली, बिना लाइसेंस का करीब 2 लाख 10 हज़ार रुपये मूल्य का 192 पेटी बिना लाइसेंन्स के अण्डा के साथ ही 59 हज़ार 610 रुपये भी बरामद किये। इसके अलावा एक टाटा मैजिक गोल्ड, इनोवा कार, एक आटो बाइक और स्कूटी भी बरामद दिखायी गयी है।

रफतउद्दीन फरीद Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned