scriptMurder of father and son sleeping in famous Soyepur village of Varanasi | वाराणसी के चर्चित सोयेपुर गांव में सो रहे पिता-पुत्र की हत्या | Patrika News

वाराणसी के चर्चित सोयेपुर गांव में सो रहे पिता-पुत्र की हत्या

वाराणसी के वरुणापार क्षेत्र स्थित सोएपुर गांव में बीती रात एक मनबढ़ युवक ने नशे की हालत में पिता-पुत्र की हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक दोनों ही परिवारों के बीच पुरानी अदावत चल रही थी और आरोपी युवक अक्सर पीडि़त परिवार के घर के दरवाजे पर पहुंच कर गाली गलौज करता रहा। बीती रात उसने पिता-पुत्र की हत्या कर दी।

वाराणसी

Updated: May 16, 2022 03:14:05 pm

वाराणसी. जिले के लालपुर-पांडेयपुर थाना क्षेत्र के सोयेपुर गांव में रविवार (15 मई) की देर रात घर के बाहर सो रहे पिता- पुत्र की हत्या कर दी गई। घटना से पूरे गांव में सनसनी फैल गई। जानकारी के मुताबिक घटना को उसी गांव के एक युवक ने अंजाम दिया है। बताया ये भी जा रहा है कि हत्या आरोपी ने नशे की हालत में परिवार वालों के सामने घटना को अंजाम दिया। हालांकि घटना के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
शमशेर व जलालुद्दीन जिनकी सोत समय कर दी गई हत्या (फाइल फोटो)
शमशेर व जलालुद्दीन जिनकी सोत समय कर दी गई हत्या (फाइल फोटो)
लकड़ी के पटरे से सिर पर किया ताबड़तोड़ वार

जानकारी के मुताबिक युवक ने लकड़ी के पटरे से पिता-पुत्र के सिर पर ताबड़तोड़ वार कर उन्हें मौत की नींद सुला दिया। घटना के वक्त परिवार के लोग चीखते-चिल्लाते रहे पर उसका तनिक भी असर हमलावर युवक पर नहीं पड़ा। पुलिस ने आरोपी दशमी को गिरफ्तार कर लिया है।
दोनों परिवारों में काफी दिनों से चल रही थी अनबन
बताया जा रहा है कि आरोपी दशमी अक्सर नशे की हालत में आकर गाली देता रहा। लेकिन इस जघन्य कृत्य के पीछे की वजह दोनों परिवारों में अरसे से चला आ रहा विवाद भी प्रमुख कारण बताया जा रहा है।
पुलिस के आला अफसर व फोरेंसिक टीम पहुंची मौके पर
घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंचे और साक्ष्य जुटाए। हत्या में प्रयुक्त लकड़ी का पटरा पुलिस ने कब्जे में ले लिया है।
पिता-पुत्र के सिर पर किया हमला

सोयेपुर गांव निवासी जलालुद्दीन (65) फेरी लगाकर परिवार का जीविकोपार्जन करते थे। जलालुद्दीन के पांच बेटों और दो बेटियों में सबसे बड़ा पुत्र शमशेर (45) भी पिता के काम में हाथ बटाता था। मृतक जलालुद्दीन के परिजनों ने पुलिस को बताया कि रविवार की रात पिता और पुत्र के अलावा भतीजा आर्यन और भतीजी जन्नत सोएए थे। देर रात पड़ोस का दशमी राजभर शराब के नशे में धुत होकर पहुंचा और सो रहे शमशेर को भद्दी-भद्दी गालियां देने लगा। विरोध करने पर दशमी ने पटरे से शमशेर के सिर पर हमला कर दिया। पिता जलालुद्दीन को बचाने के लिए बेटा बीच में आया तो दशमी ने उसके सिर पर भी वार कर उन्हें भी मौत की नींद सुला दिया। घटना के बाद दशमी मौके से भाग निकला। भतीजा और भतीजी के शोर मचाने पर परिवार और आसपास के लोग जुटे। आनन-फानन में जख्मी पिता-पुत्र को पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।
बेटे को बचाने में गई पिता की जान

रविवार को जब वह सोते समय शमशेर को गालियां दे रहा था तो शमशेर उठा और दशमी को वहां से जाने को कहा। लेकिन दशमी नही गया, तब उसने उसे मार दिया, जिससे बात बढ़ गई। इस दौरान जलालुद्दीन और आसपास के लोग जाग चुके थे। विवाद बढ़ने पर दशमी जब पटरे से शमशेर के सिर पर हमला करने लगा तो पिता जलालुद्दीन उसे बचाने पहुंचे। दशमी ने उनसे भी हाथापाई की और उनके भी सिर पर पटरे से वार कर दिया। इस दौरान परिवार के लोग चीख-पुकार रहे थे।
15 मिनट तक करता रहा हमला, आसपास के लोग घरों से देखते रहे तमाशा

आसपास के लोग घरों से तमाशा देख रहे थे। घटना के बाद आसपास के लोग धीरे-धीरे आगे आने लगे। बताया जा रहा है कि दशमी को पिता-पुत्र को मारने में कम से कम 15 मिनट लगे। इतने में आसपास के लोग चाहते तो हमलावार को पकड़ सकते थे लेकिन वह आराम से मौके से निकल भागने में सफल रहा। हालांकि कुछ देर बाद वह मोहल्ले से ही पकड़ा गया। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और हत्या की दूसरी वजह का भी पता लगा रही है।
नशेड़ी ही नहीं मनबढ़ भी है दशमी

बताते हैं कि दशमी राजभर नशेड़ी ही नहीं, मनबढ़ भी हैं। उसे शराब, गांजा, जुए की लत है और आएदिन कमजोर लोगों को मारपीट कर उनसे रूपये छीन लेता था। अक्सर नशे की हालत में घर पहुंचता तो किसी न किसी को गालियां देता रहता था। वह जलालुद्दीन और उसके परिवार को पहले भी गालियां देता रहा। इस कारण दोनों परिवारों में अक्सर विवाद होता रहा। इसे लेकर अंदर ही अंदर दोनों परिवारों में तनाव बना रहा। दशमी भी नशे की हालत में अपने साथियों के बीच जलालुद्दीन व उसके बेटे को मारने की बात कहता रहता था।
सोयेपुर क्यों है चर्चित

ये सोयेपुर गांव ही है जहां 17 फरवारी 2010 को इसी गांव में हुए जहरीली शराब कांड में करीब 28 लोगों की जान चली गई थी। इस घटना से शासन में भी खलबली मच गई थी। कई नामधारी नेताओं समेत दर्जनों लोगों पर 34 से अधिक मुकदमे कायम हुए। लंबी जांच और तमाम कानूनी प्रक्रियाओं के बाद भी इतनी मौतों के जिम्मेदारों को न तो पकड़ा जा सका और न मृतकों के परिवारों को न्याय मिल सका। और तो और शासन स्तर से मुकदमे ही वापस लेने की कवायद शुरू हो गई थी। इन मौतों की फाईलें आज भी ठंडे बस्ते में है। इसके अलावा पास के लालपुर का राय साहब का बगीचा भी रह-रहकर किसी न किसी घटना की वजह से चर्चा में रहता है। यहां गुत्थियां उलझती और सुलझती रहती हैं और जिन्हें नही सुलझाना होता है उन्हें लटका दिया जाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट पर सस्पेंस बरकरार, सुप्रीम कोर्ट पर टिकी सभी की नजरें; जानें सियासी संग्राम में अब आगे क्या?Maharashtra Floor Test: मुंबई लौटने से पहले एकनाथ शिंदे ने भरी हुंकार, कहा- हमारे पास बहुमत है, हमें कोई नहीं रोक सकताMaharashtra Political Crisis: क्या उद्धव ठाकरे के इस फैसले ने बिगाड़ा सारा खेल! NCP की भूमिका पर भी उठ रहे है सवालबिहार में बड़ा सियासी बवाल, Owaisi की पार्टी के 5 में से 4 विधायक RJD में हुए शामिलपहले खुलेआम कन्हैयालाल की नृशंस हत्या की धमकी, फिर सिर कलम कर दिया, आतंकियों की करतूतों से मेल खाता है तरीकानवीन जिंदल को भी कन्हैया लाल की तरह जान से मारने की मिली धमकी, दिल्ली पुलिस से की शिकायतMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने कहा- 2/3 बहुमत है हमारे पासSecurity To Ambani Family: मुकेश अंबानी की सुरक्षा से जुड़े मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई त्रिपुरा HC के आदेश पर रोक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.