रिचा सिंह के बाद अब नेहा यादव छात्र राजनीति में रखेंगी कदम, एक साल में ऐसे हुई फेमस

रिचा सिंह के बाद अब नेहा यादव छात्र राजनीति में रखेंगी कदम, एक साल में ऐसे हुई फेमस
नेहा यादव, अखिलेश यादव और रिचा सिंह

Sarweshwari Mishra | Updated: 03 Aug 2018, 11:09:09 AM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

कई बार प्रदर्शन करके कर चुकी है वीसी का घेराव

वाराणसी. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को काला झंडा दिखाने वाली नेहा यादव इन दिनों चर्चा में हैं। नेहा यादव सपा से छात्रसंघ अध्यक्ष का चुनाव लड़ने जा रही हैं। 24 साल की नेहा यादव को यूनिवर्सिटी में आए एक साल हो गए हैं। इन एक साल के अंदर नेहा यादव ने कई विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया। इस दौरान कई बार वीसी के खिलाफ आंदोलन किया। कई बार हॉस्टल आवंटन को लेकर वीसी पर सवाल उठाए। नेहा यादव समाजवादी पार्टी के युवा विंग से जुड़ी हैं। 27 जुलाई अमित शाह को काला झंडा दिखाने के बाद नेहा यादव की दावेदारी और बढ़ गई है। अब नेहा सपा का युवा चेहरा बन गई हैं। अपने इस कदम से सियासी गलियारों में नेहा की चर्चा तेज हो गई है। अब नेहा यादव छात्रसंघ का अगला चुनाव लड़ने जा रही है। इसके पहले समाजवादी पार्टी से रिचा सिंह छात्रसंघ अध्यक्ष चुनी गई थी।

 

नेहा यादव के जगह-जगह लगने लगे पोस्टर
24 साल की नेहा यादव सपा की दूसरी महिला छात्र नेता हैं छात्र संघ अध्यक्ष चुनाव के लिए मैदान में उतरने वाली हैं। नेहा को यहां तक पहुंचने में सिर्फ एक साल लगे हैं। फिलहाल नेहा इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से रिसर्च कर रही हैं और वह समाजवादी पार्टी के युवा विंग से जुड़ी हुई हैं। नेहा के छात्रसंघ चुनाव लड़ने की चर्चा जोर- शोर से चल रही है और इसको लेकर जगह- जगह पोस्टर भी लगा दिये गये हैं।

 

छात्र राजनीति में तेजी से सक्रिय हुई नेहा
छात्र राजनीति में तेजी से सक्रिय हुई नेहा अब छात्रसंघ अध्यक्ष का चुनाव लड़ने जा रही हैं। नेहा यादव इलाहाबाद विश्वविद्यालय के फूड टेक्नोलॉजी से शोध कर रही हैं, साथ ही वह समाजवादी पार्टी की छात्र इकाई समाजवादी छात्र सभा की एक छात्रनेत्री भी हैं। इलाहाबाद की रहने वाली नेहा ने बीएचयू से फूड एंड न्यूट्रिशन मास्टर की डिग्री ली है और वह फिलहाल इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के सेंट्रल ऑफ फूड टेक्नोलॉजी से रिसर्च कर रही हैं। वह पिछले एक साल से इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में है और एक साल के अंदर ही उसने समाजवादी युवा विंग से जुड़कर पार्टी के लिए कई विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया है।


ऐसे राजनीति में रिचा सिंह ने रखा था कदम
रिचा सिंह इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का छात्रसंघ चुनाव जीतकर चर्चा में आई थीं। रिचा सिंह पहली महिला थी जो यूनिवर्सिटी में चुनाव जीती थी। समाजवादी पार्टी ने 2017 में इलाहाबाद वेस्ट सीट पर अतीक अहमद का टिकट काटकर 28 साल की ऋचा सिंह को उतारा था। बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ को कैंपस में घुसने से रोकने पर वामपंथी धड़ा उनका मुरीद हो गया था। इनके सामने सबसे बड़ी चुनौती बीएसपी कैंडिडेट पूजा पाल थीं। हालांकि रिचा सिंह चुनाव जीत नहीं पाई।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned