लॉकडाउन में फंसे इन 1900 लोगों को जब भेजा गया घर, चेहरे पर खुशी देखते ही बनती थी

- मुश्किल वक्त में घर जाने की खुशी इनके चेहरे पर साफ दिख रही थी
- बिहार के 1900 लोगों को 60 बसों से भेजा गया घर

By: Hariom Dwivedi

Updated: 10 May 2020, 04:20 PM IST

वाराणसी. लॉकडाउन के कारण 50 दिन तक बनारस में फंसे बिहार के 1900 लोगों को रविवार को उनके घरों को भेजा गया। उत्तर प्रदेश परिवहन की 60 बसों में 1900 लोग अपने घरों को भेजे जा सके। इस मुश्किल वक्त में घर जाने की खुशी इनके चेहरे पर साफ दिखी। घर भेजने की प्रक्रिया के तहत इन सभी का इसके पहले रजिस्ट्रेशन कराया गया था। इनमें काफी संख्या में पर्यटक, श्रद्धालु हॉस्टल में फंसे छात्र हैं।

रविवार को दिन में इन सभी को जगतगंज स्थित डॉ संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय परिसर में एकत्रित किया गया। डीएम कौशल रहज शर्मा समेत कई बड़े अधिकारियों की मौजूदगी में बसों पर सवार होने से पहले लोगो का स्वास्थ्य परीक्षण एवं थर्मल स्कैनिंग की गई। इन्हें रास्ते के लिए लंच पैकेट में पूरी, सब्जी, मिष्ठान के साथ ही बोतल का पानी उपलब्ध कराया गया।

सोशल डिस्टेसिंग पर दिखा जोर
रविवार को इन्हें रवाना करते समय भी सोशल डिस्टेंन्सिंग को लेकर प्रशासन पूरा सजग दिखा। किसी भीबस में 30 से अधिक लोगों को नहीं बताया गया। इसके अलावा बिहार के अन्य जिले के 1500 लोगों को सोमवार को उनके घर भेजा जाएगा।

राजस्थान झारखण्ड के लोग गुरुवार को भेजे गए थे घर
बतादें की इससे पहले श्रमिकों, विद्यार्थियों सहित राजस्थान और झारखंड के लोगों को रोडवेज की बसों से गुरूवार को उनके गृह जनपद भेजा गया। इनमें झारखंड के 1432 लोगों को 47 बसों और राजस्थान के 300 लोगों को 11 बसों से उनके गृह जनपद भेजा गया था।

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned