scriptNow fresh survey for ropeway in Varanasi | वाराणसी में रोप वे के लिए अब नए सिरे से सर्वे, तैयार होगा नया DPR | Patrika News

वाराणसी में रोप वे के लिए अब नए सिरे से सर्वे, तैयार होगा नया DPR

वाराणसी की बेपटरी यातायात व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए रोप वे के लिए अब नए सिरे से सर्वे शुरू हो गया है। अब सर्वे के साथ ही नए सिरे से DPR भी बनाया जाएगा। इसके लिए राष्ट्रीय राजमार्ग लॉजिस्टिक मैनजमेंट कंपनी के अधिकारी वाराणसी पहुंच गए हैं। जानें इसकी जरूरत क्यों पड़ी...

वाराणसी

Published: April 30, 2022 07:21:38 pm

वाराणसी. शहर की ध्वस्त यातायाता व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए रोप वे प्रोजेक्ट तैयार किया जा रहा है। हालांकि इसके लिए योगी आदित्यनाथ सरकार के पहले कार्यकाल में भी इसकी प्लानिंग की गई थी। प्लानिंग के तहत प्रोजेक्ट को पीपीपी (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप) मॉडल पर काम किया जाना था। इसके लिए निविदा आमंत्रित की गई पर एक भी निजी कंपनी ने निविदा नहीं डाली। ऐसे में अब पूरी कार्रवाई नए सिरे से शुरू की जा रही है। रोपवे की नई डीपीआर के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग लॉजिस्टिक मैनजमेंट कंपनी के अधिकारी वाराणसी पहुंच गए हैं।
रोप वे (प्रतीकात्मक फोटो)
रोप वे (प्रतीकात्मक फोटो)
वीडीए व राष्ट्रीय राजमार्ग लॉजिस्टिक मैनेजमेंट कंपनी बना रही डीपीआर

ऐसे में अब नए सिरे से रोपवे के रूट से लेकर एलाइमेंट तक तय करने को फिर से सर्वे किया गया है। अब विकास प्राधिकरण और राष्ट्रीय राजमार्ग लॉजिस्टिक मैनजमेंट कंपनी लिमिटेड के अधिकारियों ने नए सिरे से डीपीआर बनाने के लिए लीडार, ड्रोन और जीपीएस सर्वे शुरू किया है। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि ताजा अध्ययन के आधार पर रोपवे के रूट में बदलाव भी हो सकता है। फिलहाल रूट तय करने के लिए एलाइमेंट आदि पर भी अध्ययन किया जा रहा है।
पहले ये रूट था तय

बता दे कि पूर्व मे तैयार रूट के तहत रोप वे कैंट स्टेशन से गिरिजाघर के बीच प्रस्तावित था। इस साढे चार किलोमीटर लंबे रोप वे प्रोजेक्ट के लिए नए सिरे से डीपीआर तैयार कराया जा रहा है। इसमें बजट के साथ ही इसे जनोपयोगी बनाने की खातिर नए रूटों पर भी विचार चल रहा है। ऐस में ये कयास लगाए जा रह हैं कि अब नए डीपीआर मं रोप वे के रूट में परिवरतन हो सकता है। इसके तहत अब कैंट से साजन तिराहा होते नई सड़क से गिरिजाघर पहुंचाने पर मंथन चल रहा है। इसके पीछे जो कारण बताए जा रहे हैं उसके तहत कैंट से रथयात्रा होते गोदौलिया जाने वाले यात्रियों की संख्या नगण्य है।
केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय राजमार्ग लाजिस्टिक मैनजमेंट कंपनी को लगाया है

नया डीपीआर तैयार करने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग लॉजिस्टिक मैनजमेंट कंपनी के अधिकारियों की मदद के लिए विकास प्राधिकरण की नई टीम भी गठित की गई है। दरअसल कैंट से गिरिजाघर के बीच बने रोपवे रूट की निविदा पर किसी भी कंपनी के रूचि न दिखाने के चलते केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय राजमार्ग लाजिस्टिक मैनजमेंट कंपनी लिमिटेंड को सर्वे की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
हफ्ते भर में नया फैसला की उम्मीद

वाराणसी विकास प्राधिकरम की उपाध्यक्ष ईशा दुहन का कहना है कि राष्ट्रीय राजमार्ग लाजिस्टिक मैनजमेंट कंपनी लिमिटेंड की ओर से सर्वे शुरू कर दिया गया है। एक सप्ताह में कोई नया फैसला संभव है। विकास प्राधिकरण की ओर से रोपवे सर्वे के लिए टीम का गठन कर सर्वे में सहयोग दिया जा रहा है।
वैपकास के निर्णय पर भी उठ रहे सवाल
बता दें कि इससे पहले विकास प्राधिकरण ने तकीबन दो करोड़ रुपये खर्च कर वैपकास कंपनी से रोपवे के लिए सर्वे कराया था। केंद्र सरकार की ओर से निर्धारित कंपनी राष्ट्रीय राजमार्ग लाजिस्टिक मैनजमेंट कंपनी लिमिटेड के सूचीबद्ध होने के बाद भी नई कंपनी का चयन किन कारणों से किया गया। इसके साथ ही वैपकास पर करोड़ों खर्च के बावजूद जीरो रिजल्ट पर भी विचार विमर्श चल रहा है.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.