वाराणसी पहुंचे ओवैसी, कहा यूपी आने नहीं देती थी सपा सरकार, 12 आने से रोका गया था

  • एक दिन के दौरे पर पूर्वांचल पहुंचे हैं ओवैसी
  • उनके साथ ओम प्रकाश राजभर भी मौजूद
  • वाराणसी से जौनपुर के रास्ते आजमगढ़ रवाना

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

वाराणसी. बिहार की जीत से गदगद एआईएमआईएम (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) 2022 में यूपी में ताल ठोकेंगे। इसके लिये उन्होंने अभी से उसकी जमीन तैयार करना शुरू कर दिया है। मंगलवार को ओवैसी पहली बार पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। यहां उन्होंने यूपी में तीसरा मोर्चा (Third Front) खड़ा करने में जुटे ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) को अपना दोस्त बनाया तो उनके निशाने पर रही समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में उन्हें यूपी आने नहीं दिया जाता था। तब सपा सरकार ने उन्हें 12 बार यूपी आने से रोका था।

इसे भी पढ़ें- यूपी में तीसरा मोर्चा मजबूत करेंगे ओवैसी, पूर्वांचल के दौरा कल

बड़ी बात यह कि ओवैसी के साथ ही मंगलवार को पूर्वांचल में अखिलेश यादव भी हैं। अखिलेश जौनपुर (Jaunpur) के मल्हनी विधायक लकी यादव के पिता व पूर्व मंत्री स्व. पारसनाथ यादव की जयंती कार्यक्रम में शिरकत करने जौनपुर में होंगे। पहले से ही माना जा रहा था कि सपा सरकार रहते जिस तरह ओवैसी को आने की इजाजत नहीं दी गई थी उसको लेकर सपा और अखिलेश यादव जरूर उनके निशाने पर होंगे।

इसे भी पढ़ें- ओवैसी का पूर्वांचल दाैराः आजममगढ़ में दूसरी बार आएंगे असदुदीन ओवैसी, पंचायत चुनाव पर होगा बड़ा फैसला

वाराणसी के साथ ओम प्रकाश राजभर भी थे। ओवैसी ने कहा कि ओम प्रकाश राजभर से उनकी दोस्ती है। राजभर की ओवैसी से लखनऊ में मुलाकात के बाद भीम आर्मी (Bhim Army) प्रमुख चंद्रशेखर (Chandrashekhar) भी राजभर से मिल चुके हैं और उनकी मुलाकात आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी संजय सिंह (Sanjay Singh) से भी हो चुकी है। शिवपाल सिंह यादव का झुकाव भी छोटे दलों से गठबंधन की ओर है।

इसे भी पढ़ें- ओवैसी के आगमन पर बढ़ी प्रशासन की चुनौती, आरएसएस करने जा रहा यह काम

ओवैसी वाराणसी से जौनपुर के रास्ते आजमगढ़ के लिये रवाना हो गए। रास्ते में जौनपुर में वहां के जिलाध्यक्ष इमरान बंटी (Imran Bunty) के नेतृत्व में उनका स्वागत किया जाएगा। वहां वो दो मिनट कार्यकर्ताओं का शुक्रिया अदा करके आगे के लिये रवाना हो जाएंगे।

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned