पैकेजिंग में आत्मनिभर्र बनेगा वाराणसी, ट्रेड फैसिलिटी सेंटर में खुलेगा ट्रेनिंग सेंटर

पैकेजिंग ट्रेनिंग सेंटर खुलने से वाराणसी व आसपास के जिलों में हस्तशिल्प और कृषि उत्पादों की हो सकेगी पैकेजिंग, मिलेगा निर्यात को मिलेगा बढ़ावा।

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी जल्द ही पैकेजिंग के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा। यहां पैकेजिंग के लिये बाकायदा एक प्रशिक्षण केन्द्र खोला जाएगा। यह ट्रेनिंग सेंटर वाराणसी के बड़ालालपुर स्थित पं दीन दयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल यानि ट्रेड फैसिलिटी सेंटर में खुलेगा। वाराणसी में पैकेजिंग संस्थान खोले जाने के पहले चरण में यह ट्रेनिंग सेंटर शुरू किया जा रहा है। इसका संचालन सितम्बर के महीने से शुरू हो जाएगा। वस्त्र मंत्रालय और भारतीय पैकेजिंग संस्थान के अधिकारियों ने इसे हरी झंडी दे दी है।


प्रधानमंत्र नरेन्द्र मोदी चाहते हैं कि वाराणसी विकास का एक नया माॅडल बनकर उभरे और इससे पूरे पूर्वांचल, खासतौर से वाराणसी के आसपास के जिलों में विकास और रोजगार के नए द्वार खुलें। पीएम मोदी की मंशा के अनुरूप वाराणसी में पैकेजिंग संस्थान खोले जाने पर तेजी से काम चल रहा है। इस कड़ी में पहले पैकेजिंग के लिये ट्रेनिंग सेंटर खुलने जा रहा है। सेंटर के शुरू हो जाने के बाद वाराणसी ही नहीं आसपास के जिलों के हस्तशिल्प व कृषि उत्पादों की स्थानीय स्तर पर पैकेजिंग मुमकिन होगी और देश विदेश में निर्यात को भी बढ़ावा मिलेगा।

 

वस्त्र मंत्रालय और भारतीय पैकेजिंग संस्थान के अधिकारियों ने इस बाबत वाराणसी पहुंचकर इसकी न सिर्फ संभावनाएं देखीं। इसको लेकर अधिकारियों के साथ बैठकों का दौर चला और जिला प्रशासन की ओर से सेंटर के अस्थायी संचालन के लिये राजा तालाब स्थित पालिटेक्निक कालेज और ट्रेड फैसिलिटी सेंटर का प्रस्ताव दिया गया। ट्रेड फैसिलिटी सेंटर का मुआयना करने के बाद अधिकारियों ने वहां सेंटर खोलने को हरी झंडी दे दी।

 

वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया है कि सितंबर के महीने में ट्रेनिंग सेंटर के साथ पैकेजिंग भी शुरू हो जाएगी। भारतीय पैकेजिंग संस्थान मुंबई के विशेषज्ञ प्रशिक्षण देंगे। शुरुआत में यहां गुलाब मीनाकारी, ग्लास बीड, मेटल रिपोजी, लकड़ी व पत्थर के हस्तशिल्प उत्पाद और कृषि उत्पाद (फल व सब्जियों) की पैकेजिंग की जाएगी। अभी वाराणसी व आसपास के क्षेत्रों से विदेश निर्यात की जाने वाली सब्जियों की पैकेजिंग लखनऊ में होती है, लेकिन पैकेजिंग की सुविधा हो जाने के बाद सीधे वाराणसी एयरपोर्ट से ही फल व सब्जियां विदेश भेजी जा सकेंगी। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने पैकेजिंग संस्थान से आए अधिकारियों के सामने काशी विश्वनाथ मंदिर के प्रसाद की आकर्षक पैकेजिंग का प्रस्ताव भी रखा है, जिसपर अधिकारियों की ओर से अगले सप्ताह तक पैकेजिंग का माडल बनाकर भेजने का आश्वासन भी दिया गया है।

Narendra Modi
रफतउद्दीन फरीद Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned